ENG | HINDI

देश को भिखारी मुक्त बनाना है तो आपको भीख को ना कहकर करनी होगी ये आसान शुरूआत

देश को भिखारी मुक्त बनाने के लिए

अगर वाकई आप अपने देश और नागरिकों से प्रेम करते हैं और देश को भिखारी मुक्त बनाने के लिए सबसे पहले आपको ये काम करना होगा.

आप सभी लोग मंदिर तो जाते ही हैं और वहां आप भिखारियों को देखकर उनको 5 या 10 रूपए भीख में भी देते ही होंगे.

तो क्यों न आप ऐसा करे कि जब कोई भिखारी आप से भीख मांगे तो आप उससे कहें कि वह उसे भीख तो देंगे लेकिन उनकी भी एक शर्त है. अगली बार जब वे मंदिर आएंगे तो वे भगवान जी को चढ़ाने के लिए फूल और प्रसाद उसी से लेंगे और उसके बदले उसे 5 या 10 रूपए अधिक देंगे.

देश को भिखारी मुक्त बनाने के लिए ऐसा करने से क्या होगा कि एक तो वह भिखारी अगर जरूरतमंद होगा और काम न मिलने की मजबूरी में भीख मांग रहा होगा तो वह जरूर आपकी बात पर गौर करेगा. इससे जहां उसका फायदा होगा तो वहीं आपका दान भी सही कार्य में लगेगा.

हो सकता है कि आप उसको भिखारी से स्वालंबी बना दे. वहीं अगर वह भिखारी  कामचोर होगा तो वह आपकी बात कभी नहीं मानेगा. इससे असली और नकली जरूरत मंद की पहचान भी हो जाएगी कि कौन मजबूरी में मांग रहा है और कौन नशा करने और मौज मस्ती के लिए भीख मांग रहा है.

अगर एक भी भिखारी ऐसा करता है कि वह भीख के बदले कुछ ज्यादा पैसों में आपको पूजा के फूल और प्रसाद देने को तैयार हो जाता है तो यह आपकी एक बड़ी उपलब्धि हो सकती है.

यह इतना आसान नहीं है. भिखारी लोग आपके कहने भर से नहीं मान जाएंगे. इसलिए आपको भी एक अलग तरीके से काम लेना होगा. आप मंदिर में अपने आस पास खड़े लोगों या परिचत लोगों से भी इसकी चर्चा कर उनको ऐसा कहने की शुरूआत करने के लिए कहना होगा.

जब भी मंदिर के बाहर या परिसर में कोई भिखारी उनसे भीख मांगे तो वह उसे यही कहें कि वो उसे तभी भीख देंगे जब वह उन्हें प्रयाद या पूजा के फूल भी साथ में बेचें. जब अधिक से अधिक लोग भिखारियों सेऐसा करने के लिए कहेंगे तो सभी नहीं कम से कम एक या दो भिखारी इस दिशा में सोचना प्रारंभ करेंगे.

इसके लिए आपको अपनी सोसाइटी या मोहल्ले के लोगों से भी अपील करनी होगी कि वे भी ऐसा ही करें. इससे ये लाभ होगा कि यदि एक भी भिखारी इसके लिए तैयार हो गया तो बाकी भिखारियों पर इसके लिए दवाब पड़ेगा. क्योंकि यदि शुरूआत में 10 लोगों ने भी उस भिखारी से कुछ अधिक पैसे देकर पूजा का सामान भी खरीद लिया तो उसको बाकी भिखारियों से अधिक पैसे मिलेंगे.

आप देखेंगे कि यदि एक भिखारी से भी इस मुहिम की शुरूआत हो गई तो धीरे धीरे इससे और भी लोग जुड़ने लगेंगे. क्योंकि आज हमारे देश में बहुत से ऐसे लोग हैं जो इन भिखारियों की मदद तो करना चाहते हैं लेकिन उनको इन भिखारियों के भीख मांगने का रवैया और तरीका दोनों ही नापंसद है.

इसलिए वे लोग आपकी इस मुहिम में आप के साथ आ सकते हैं. इसके लिए आप फेसबुक और ट्वीटर पर भी अपने दोस्तों से ऐसा करने की अपील कर सकतें हैं.

यदि आप वाकई सोचते हैं कि हमारे देश और समाज पर भिखारियों के रूप में जो एक कलंक लगा हुआ है यह हटना चाहिए तो आप यंगस्थिान की मुहिम के साथ भी जुड़ सकते हैं.

यंगिस्थान ने देश को भिखारी मुक्त बनाने के लिए एक मुहिम चलाई हुई हैं.

यंगिस्थान का प्रयास है कि भारत के धर्मस्थलों और चौराहों को भिखारियों से मुक्त करना है.

Don't Miss! random posts ..