ENG | HINDI

रेस्टोरेंट में बिल के साथ क्यों देते हैं सौफ और मिश्री !

सौंफ और मिश्री

आजकल अमूमन सभी लोग हर दुसरे तीसरे दिन रेस्टोरेंट में खाने जाने लगे हैं, पर क्या आपने कभी इस बात पर गौर फरमाया की खाने के बाद बिल के साथ आपके सामने सौंफ और मिश्री क्यूँ पेश की जाती है?

अगर आपको नहीं पता तो हम आपकी इस जिज्ञासा को आज शांत कर देते हैं|

सौंफ और मिश्री –

1- सौंफ और मिश्री ही क्यों?

सौंफ और मिश्री में पाचनशक्ति बढ़ाने और खाना जल्दी पचाने की अतुल्य क्षमता होती है| खाना खाने के बाद यदि सौंफ का सेवन किया जाये तो पेट में एसिडिटी नहीं होती| इतना ही नहीं खाना पचाने में भी सौंफ और मिश्री का जवाब नहीं| इस कारण हर जगह बिल के साथ हमें सौंफ और मिश्री खाने को दी जाति है|

2- एक कारण ये भी

बाहर का खाना खाने के बाद, सलाद, मसालेदार भोजन के कारन मुंह से बदबू आ सकती है, इसे दूर करने के लिए भी सौंफ और मिश्री खाया जाता है| ये वाकई काफी कारगर है, अगर आपको यकीं न हो तो इस बार अप भी ऐसा ही कर के देखिएगा, मुंह से आ रही प्याज़ की बदबू पल भर में दूर हो जाएगी और आप फ्रेश फील करेंगे|

3- याददाश्त बढ़ानी हो तो खाइए सौंफ

जी हैं, सिर्फ खाना पचाने और मुंह की बदबू दूर करने के लिए ही नहीं, सौंफ खाने का एक और बड़ा फायदा है, याददाश्त बढ़ाना| आपकी याददाश्त कमज़ोर हो तो आज ही से सौंफ का सेवन शुरू कर दीजिये, ये न सिर्फ आपके दिमाग को मज़बूत करेगी बल्कि आँखों की रौशनी बढ़ाने में भी फायदेमंद साबित होगी|

4- दूर करे एसिडिटी, कोलेस्ट्राल भी करे कम

जी हाँ देखने में नन्हीं सी सौंफ आपके पेट के साथ साथ दिल के लिए भी बेहद फायदेमंद है| इसके सेवन से न सिर्फ आपका पेट दुरुस्त रहेगा बल्कि कोलेस्ट्राल लेवल भी कम होगा| दिल की हिफाज़त करने में भी सौंफ का कोई जवाब नहीं|

तो देर किस बात की है, रेस्टोरेंट जाकर सौंफ और मिश्री खाने से बेहतर है घर में ही इसे ले आयें और स्वस्थ रहने के लिए इसे खाना शुरू करें, फिर देखें आपका, दिमाग, दिल और सेहत कैसे दुरुस्त रहता है|

Don't Miss! random posts ..