ENG | HINDI

अखिलेश यादव ही हैं मुलायम की दूसरी पत्नी के निशाने पर

मुलायम सिंह यादव की दूसरी पत्नी साधना गुप्ता

मुलायम सिंह यादव की दूसरी पत्नी साधना गुप्ता के निशाने पर कोई ओर नहीं बल्कि अखिलेश यादव ही है.

अखिलेश पर निशाना साधने के लिए साधना ने उसी मीडिया का सहारा लिया जिससे वो आजतक दूरी बनाए हुई थी.

साधना गुप्ता ने हाल में एक मीडिया बातचीत में जिस प्रकार अपने दिल का दर्द बयां किया है उससे यही लगता है कि उनके दिल में जो जिस कांटे की चुभन है वह मुलायम के अपने ही बगीचे का है.

क्योंकि साधना ने जिस प्रकार बार बार अखिलेश का नाम लिया कभी तारीफ और कभी उनके हालिया कदम को लेकर उससे साफ जाहिर होता है कि वह अखिलेश को लेकर काफी मर्माहाहत है.

साधना ने शिवपाल के साथ अन्याय और अपमान होनी की बात कहकर एक प्रकार से अखिलेश पर ही निशाना साधा है.

आपको बता दें कि जिस समय यादव परिवार में फैमिली ड्रामा चल रहा था उस दौरान मीडिया में मुलायम सिंह यादव की दूसरी पत्नी साधना गुप्ता को इस पूरे प्रकरण के लिए जिम्मेंदार बताया गया था. कहा गया था कि वे अपने बेटे प्रतीक को राजनीति में लाने के लिए दवाब की राजनीतिक के तहत ये सब कर रही है.

गौरतलब है कि सपा में कोई भी मामला रहा हो लेकिन इससे पहले कभी किसी पार्टी पदाधिकारी ने मुलायम सिंह की दूसरी पत्नी का नाम किसी नहीं लिया था. लेकिन इस बार जिस प्रकार साधना गुप्ता का नाम लेकर पत्र मीडिया में सार्वजनिक किया गया उससे मुलायम सिंह की दूसरी पत्नी को लगा कि इन सब के पीछे अखिलेश यादव का हाथ है. उनके इशारे पर ही ये सब किया गया है.

लेकिन साधना का यह कहा कि उनका बहुत अपमान हुआ है. और अब वो पीछे नहीं हटेंगी. मतलब साफ है कि उनके दिल में अभी भी टीस बाकी है. वो अखिलेश पर खुलकर तो नहीं बोलती लेकिन संकेतों में उनको कठघरे में जरूर खड़ा कर देती है.

वो मुलायम को ढ़ाल बनाकर अखिलेश यादव पर निशाना साधती हैं. वो कहती है कि चाहे कुछ भी हो, किसी को नेताजी का अपमान नहीं करना चाहिए था, उन्होंने ही पार्टी बनाई और उसे सींचा था.

यानी एक प्रकार से अखिलेश यादव ने बगावत करके जो किया वह सही नहीं था ऐसा कहकर साधना ने अखिलेश को ही कठघरे में खड़ा किया है.

मुलायम सिंह यादव की दूसरी पत्नी साधना गुप्ता का शिवपाल का बचाव करना और उनके अपमान पर दुख प्रकट करना. इसके अलावा मुलायम सिंह के पार्टी में बात न माने जाने को उनके अपमान से जोड़कर हमला करना, उसको देखते हुए साफ है कि उनके निशाने पर अखिलेश यादव ही है.

Don't Miss! random posts ..