ENG | HINDI

सचिन तेंदुलकर की इन 5 बातों से विराट कोहली को खुद पर शर्म आने लगेगी !

सचिन तेंदुलकर की बातें – सचिन तेंदुलकर की इन 5 बातों से विराट कोहली को खुद पर शर्म आने लगेगी !

अचानक से ही इन दिनों क्रिकेट के महान खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली की तुलना अधिकतर जगह होने लगी है.

मीडिया और लोगों द्वारा सचिन को छोटा दिखाने में जैसे बड़ा मजा आ रहा है. असल में हम भूल गये हैं कि सचिन तेंदुलकर ने भारत की क्रिकेट टीम को बनाया है और विराट को यह टीम बनी बनाई मिली है.

तो आइये आज हम आपको सचिन तेंदुलकर की बातें बताते हैं जिनको पढ़कर आप भी बोलेंगे कि वाकई सचिन तेंदुलकर महान खिलाड़ी हैं-

सचिन तेंदुलकर की बातें –

1. ओपनिंग भी रही है शानदार

आप विराट कोहली का ओपनिंग करते हुए जरा रिकॉर्ड देखेंगे तो दूध और पानी दोनों अलग होने लगेगा. सचिन तेंदुलकर ने कुछ 340 पारियों में ओपनिंग की और यहाँ इन्होनें 15 हजार से ज्यादा रन बनाये हैं. विराट कोहली ओपनिंग करने से वैसे ही घबराते हैं जैसे बच्चा आग से घबराता है. आप समझ रहे हैं ना कि सचिन आखिर क्यों क्रिकेट के बाप हैं.

2. आस्ट्रेलिया के खिलाफ सचिन विश्व के नंबर वन बल्लेबाज

आस्ट्रेलिया के खिलाफ खेलना वाकई हमेशा मुश्किल होता है. सचिन विश्व के नंबर वन बल्लेबाज हैं जिसने आस्ट्रेलिया के खिलाफ सबसे अच्छा खेल खेला है. 71 मैच में 3 हजार से ज्यादा रन और 80 की औसत से बल्लेबाजी करना, सचिन तेंदुलकर को विराट कोहली से बड़ा बल्लेबाज बना देता है.

सचिन तेंदुलकर की बातें

3. विश्वकप में सचिन का रिकॉर्ड देखो

आपको पता है विराट कोहली अभी तक वर्ल्ड कप एकदिवसीय में कभी भी मेन आफ द टूर्नामेंट नहीं रहे हैं. सचिन तेंदुलकर को यह मुकाम हासिल करने में वक़्त तो लगा किन्तु वह इस मुकाम तक पहुँच जरूर गये हैं. साल 2003 में सचिन ने वर्ल्ड कप में 673 रन और दो विकेट लिए थे. विराट वैसे विश्वकप में खुच ख़ास खेल नहीं पाते हैं. विराट कोहली अभी शिष्य हैं और सचिन गुरु बन गये हैं लेकिन फिर भी ना जाने क्यों मीडिया इस तुलना को दम देती रहती है.

सचिन तेंदुलकर की बातें

4. सचिन के पास अच्छे रिकार्ड

वैसे एक बात निजी तौर पर बताई जाए तो जिन लोगों ने सचिन को को खेलते हुए 90 के दशक में देखा है तो वह जानते होंगे कि सचिन तेंदुलकर विराट कोहली से ज्यादा आक्रामक बल्लेबाज हुआ करते थे. जिस तरह के शॉट सचिन लगाते थे उतने अच्छे शॉट विराट आज भी नहीं लगा पाते हैं. सचिन के छक्के वाकई देखने वाले होते थे. सचिन ने कई बार बॉल को स्टेडियम के बाहर भेजा है. विराट शायद उतनी बार बॉल को स्टेडियम के बाहर नहीं कर पाए होंगे.

सचिन तेंदुलकर की बातें

5. सचिन एक अच्छे गेंदबाज भी रहे हैं

सचिन तेंदुलकर एक महान आलराउंडर भी रहे हैं. सचिन ने अच्छे-अच्छे खिलाडियों की गिल्लियां तक उखाड़ी हैं. सचिन ने अपने गेंदबाजी करियर में कुछ 150 से ज्यादा विकेट लिए हैं. विराट कोहली इतने विकेट नहीं ले पाएंगे. तो अब ऐसे में कैसे ना जाने लोग सचिन की तुलना विराट कोहली से कर देते हैं.

सचिन तेंदुलकर की बातें

ये है सचिन तेंदुलकर की बातें – सचिन एक महान क्रिकेट खिलाड़ी रहे हैं. विराट कोहली से उनकी तुलना करना होगा कि हम सचिन का अपमान कर रहे हैं. विराट कोहली अच्छे बल्लेबाज हैं किन्तु सचिन तेंदुलकर एक महान खिलाड़ी हैं. सचिन और विराट की तुलना करना वाकई सही नहीं है.

Don't Miss! random posts ..