ENG | HINDI

१० वजहें – क्यों इंडियन वुमन रहना चाहती है उम्रभर सिंगल

sushmita-sen-single

हर लड़की का सपना होता हैं कि उसे एक ऐसा लाईफ़ पार्टनर मिले जो  हमेशा उसके सुख और दुख में साथ दे.

इंडियन कल्चर में ये माना जाता है कि ये एक वुमन को सोशल प्रोटेक्शन भी देता हैं. लेकिन अब सोच बदल रही है.  इंडियन वुमन अब किसी का सपोर्ट लेने के बजाए इंडिपेंडेट रहना पसंद करती हैं, सिंगल रहना चाहती है.

वेस्टर्न कल्चर में ये कोई नई बात नहीं  है.

अब इंडिया में भी ये ट्रेंड जोर पकड़ता जा रहा है.

जानिए वो दस वजहे जो सिंगलटन को बढ़ावा दे रही हैं.

1.  सबसे बड़ी वजह अब महिलाएं बराबरी का हक चाहती है और उन्हें कोई रोक-टोक पसंद  नहीं है.वो जानती हैं कि उन्हें हैंडल
करना पुरुषों के बस की बात नहीं इसलिए वो सिंगल रहना पसंद करती हैं.

2.  वैसे सात फ़ेरे में पति और पत्नी एक दूसरे का साथ देनें के बात करते है,लेकिन बात जब करियर लाईफ़ और पर्सनल
लाईफ़ में बैलेंस की बात हो तो  ज्यादातर बोझ औरतों को ही ढोना पड़ता हैं. अक्सर ऑफिस में ओवरटाईम करने पर भी पति की नाराज़गी
का सामना करना पड़ता है. सिंगल रहने पर वो ऑफिस के अलावा कुछ क्लॉसेस जैसे डांस और सिंगिग के लिए भी टाईम निकाल सकती हैं. घर आकर जल्दी जल्दी खाना पकाने की टेंशन भी नहीं रहती

3.  शादी के बाद महिलाओं की शॉपिंग की आदत  को लेकर भी रोक-टोक होती हैं. उनके पति उनके मेक-अप के सामान और जूलरी पर खर्चे को लेकर भी सवाल खड़े करते है. साथ ही  उन्हें शॉपिंग करके जल्दी वापस आने को भी कहते है. जरुरत पड़े तो बार-बार कॉल भी करते है. इस तरह के  इरिटेशन से बचने के  लिए महिलाएं सिंगल रहना पसंद करती हैं.

4.  पैरेंट्स के बनाएं रुल्स को फॉलो करते -करते युवतियां इतनी थक जाती हैं कि वो शादी के बाद  किसी रिस्ट्रिकशन में रहना पसंद नहीं करती.

5.  आज कल महिलाएं सोशली काफी एक्टिव हो गई हैं. सिंगल रहने की वजह से वो सोशल नेटवर्किंग साईट जैसे ट्विटर और फ़ेसबुक को
ज्यादा वक्त दे पाती हैं.

6.  टीवी और रिमोट कन्ट्रोल पर महिलाएं अपना पूरा कन्ट्रोल रख सकती है. महिलाओं और पुरुषों की पसंद में काफी फर्क होता है. अक्सर महिलाओं को ही इस मामले में सेक्रिफाईज़ करना पड़ता है और वो अपना फ़ेवरेट शो भी नहीं देख पाती.अगर टीवी देखने को मिले तब भी
पुरुष उन्हें उनके पसंदीदा सास-बहू सीरियल देखने के बजाए डिस्कवरी जैसे चैनल दिन-रात देखने को फोर्स करते है. सिंगल
रहने पर महिला का रिमोट पर  पूरा-पूरा कंट्रोल रहता है.

7.  डिवोर्स जैसी कंडीशन में मिलने वाले मानसिक -तनाव से दूर रहने के लिए भी महिलाएं शादी से दूर रहना चाहती हैं

8.  कभी -कभी हड़बड़ी में लिए गए फ़ैसले गलत साबित हो जााते है. इसलिए वो शादी के लिए सही वक्त और सही शख़्स का इंतज़ार
करना पसंद करती है.

9.  शादी होने के बाद ड्रेसेस भी काफी केयरफुली सिलेक्ट करना पड़ता है. कभी-कभी हंसबड अपने वाईफ़ के कपड़ों के
मामले में भी दखलअंदाज़ी करते है, जैसे इंडियन ड्रेसेस पहनने के लिए फोर्स करना.

10.  भारतीय पुरुषों की आदत होती है, बेवजह शक करना. शादी के बाद वो अपनी पत्नी के फ़ोन के मैसेज़ तक चेक करते है. साथ ही वो फ़ोन पर किस से बात कर रही हैं और किससे मिलने जा रही है.  इस बात पर भी ध्यान रखते हैं, चाहे वो उनकी वाईफ़ का दोस्त ही क्यों ना हो. जो लड़कियां इन सब झंझटों से बचकर रहना चाहती है, वो सिंगल रहना पसंद करती हैं.

अब तो आप जान ही गए होंगे कि भारतीय महिलाएं क्यों सिंगल रहना पसंद कर रही हैं.

Don't Miss! random posts ..