ENG | HINDI

ये है रावण के वो 5 सपने जो कभी पूरे नहीं हो सके !

रावण के सपने जो पुरे नहीं हुए

रावण के सपने जो पुरे नहीं हुए – रावण को वैसे तो बुराई से जोड़कर देखा जाता है, मगर वह महाज्ञानी था.

अपने ज्ञान और बल पर घमंड के कारण ही श्रीराम के हाथों उसका वध हुआ. खैर ये बातें तो सभी जानते हैं, आज हम आपको रावण के सपनों के बारे में बताने जा रहे हैं.

जी हां, आपकी और हमारी तरह महाज्ञानी रावण के सपने जो पुरे नहीं हुए. तो क्या थे वो सपने?

रावण के सपने जो पुरे नहीं हुए –

१ – काले रंग को गोरा करना

रावण खुद बहुत काला था इसलिए वो चाहता था कि धरती पर मौजूद सभी काले लोगों का रंग गोरा जाए ताकि रंग की वजह से कोई भी महिला उनका अपमान न कर सके. वैसे इंसानों के रंग के अलावा वो वह खून का रंग भी बदलना चाहता था. वह चाहता था कि खून का रंग लाल की बजाय सफेद हो जाए. उसने युद्ध में अनेक निर्दोष लोगों का खून बहाया था. इससे धरती खून से लाल हो गई थी. वह चाहता था कि खून सफेद हो जाए ताकी वह पानी के साथ मिलकर उसके अत्याचारों को छुपा दे.

२ – बाली को युद्ध में हराने का सपना

रावण ने कई युद्ध जीते लेकिन कई बार हारा भी था. बाली ने रावण को हराया था और वह उसे अपने बाजू में दबाकर समुद्र की परिक्रमा भी की था. इतना ही नहीं हार के बाद बच्चों ने रावण को पकड़कर अस्तबल में घोड़ों के साथ बांध भी दिया था. रावण को बाली को जीतने का सपना अधूरा ही रह गया.

३ – सोने को खुशबुदार बनाना

रावण चाहता था कि सोने में सुगंध होनी चाहिए. रावण दुनियाभर के सोने पर खुद कब्जा जमाना चाहता था. सोना खोजने में कोई परेशानी न हो इसलिए वो उसमें सुगंध डालना चाहता था, मगर ऐसा हो न सका.

४ – स्वर्ग की सीढ़ी बनाना

रावण पूरी प्रकृति पर कब्जा जमाना चाहता था. उसकी एक इच्छा स्वर्ग तक सीढ़ियां लगाने की थी. इसके पीछे उसका इरादा अच्छा नहीं था. वह चाहता था कि लोग भगवान को पूजने की बजाय उसकी अराधना शुरू करें, ताकि उन्हें स्वर्ग की प्राप्ति हो सके.

५ – शराब से दुर्गंध दूर करना

रावण बहुत शराब पीता था. उसका सपना था कि वह शराब की दुर्गंध मिटा दें. वह उस जमाने के विज्ञान और तकनीक का जानकार था, लेकिन उसका यह सपना कभी पूरा नहीं हो पाया.

ये थे रावण के सपने जो पुरे नहीं हुए – तो देखा आपने रावण भी भले ही बहुत विद्वान था, लेकिन उसके सपने किसी भी आम इंसान की तरह ही बचकाने थे.

Don't Miss! random posts ..