ENG | HINDI

मामूली स्‍टाइपेंड पाने वाले ने खड़ा कर डाला 10,000 करोड़ का कारोबार

करोड़पति राकेश झुनझुनवाला

17करोड़पति राकेश झुनझुनवाला – आज तक कई लोग रातों रात करोड़पति बने हैं लेकिन आपने आज तक इस शख्स कि कहानी नहीं सुनी होगी जो शेयर मार्केट के गुण सीखकर करोड़प‍ति बन गया.

आज हम आपको एक ऐसे ही शख्स के मिलवाने ले जा रहे हैं जो कभी 60 रुपये का स्टाइपेंड पाता था आज को बहुत बड़ा निवेशक बन चुका है.

दोस्तों हम जिस शख्स की बात कर रहे हैं उसका नाम है राकेश झुनझुनवाला, राकेश के पिता शाम को अपने दोस्तों के साथ ड्रिंक करने बैठते तो शेयर मार्केट की बात किया करते थे. उस समय राकेश की उम्र काफी कम थी लेकिन फिर भी उसे इन बातों को सुंकर शेयर मार्केट में दिलचस्पी होने लगी. राकेश को निवेशकों के बारे में सुनकर और उनकी बड़ी-बडी कमाई के बारे में जानकर बेहद ताज्जुब होता था.

करोड़पति राकेश झुनझुनवाला

राकेश को जैसे-जैसे सेंसेकस के बारे में जानने की उत्सुकता बढ़ने लगी वैसे-वैसे वो अपने पिता से इसके बारे में सवाल करने लगे. जैसे की उन्होंने एक बार अपने पिता से पुछा कि शेयर मार्केट के रेट बढ़ते घटते क्यों रहेते हैं? तब उनके पिता ने जवाब की जगह राकेश से कहा की जा के अखबार देखो उसमें ग्वालियर रेयान के  बारे में कोई खबर आई है. पता करो की क्या कल ग्वालियर रेयान की कीमतें बढ़ेंगी या घटेंगी. और बस यही से राकेश की शेयर मार्केट की ट्रेनिंग शुरू हुई.

झुनझनवाला शेयर मार्केट में तब से निवेश कर रहे हैं जब सेंसेक्‍स 150 पर था.

उन्‍होंने सबसे पहले टाटा टी के शेयर खरीदे थे और इसी के शेयर्स को बेचकर उन्‍हें पहली बड़ी कमाई हुई थी. इन शेयर्स से उन्‍हें एक बार में ही 5 लाख का फायदा हुआ था. राकेश ने इन पैसों को खर्च करने की बजाय टाटा टी के शेयर्स में ही लगा दिए और आज इनकी कीमत 50 करोड़ रुपए है.उनकी इस सक्सेस के पीछे ना केवल परिश्रम छिपा है बल्कि सब्र भी था जिसके चलते उन्होंने काफी समय तक अपने शेयर् नहीं बेचे और एक दिन करोड़ों के मालिक बन गए.

करोड़पति राकेश झुनझुनवाला

करोड़पति राकेश झुनझुनवाला ने अपने एक इंट्रव्यू में अपने करियर की शुरुआत के बारे में बताया, राकेश ने बताया कि उन्‍होंने अपने पहले साल में 60 रुपए के स्‍टाइपेंड पर काम किया था और दूसरे साल उन्‍हें 80 रुपए और फिर 90 रुपए का स्‍टाइपेंड मिला था.और ऐसे ही धीरे-धीरे उन्होंने इतना बड़ा एमपायर खड़ा कर लिया.

अपनी सक्‍सेस के बारे में बात करते हुए करोड़पति राकेश झुनझुनवाला कहते हैं कि वो रिस्‍क लेने से नहीं डरते हैं और इसी वजह से वो आज इतने सक्‍सेसफुल हुए हैं. उन्‍होंने बताया कि अगर नुकसान होता है तो मैं 10 मिनट तक ही उसका अहसास करता हूं और फिर आगे बढ़ जाता हूं.क्योंकि अगर आप शेयर मार्केट में नुकसान के बारे में सोचने बैठे त्तो आप सारी उम्र इसमें निवेश कि केवल सोचते रहेंगे और कभी पैसा लगा नहीं पाएंगे.

करोड़पति राकेश झुनझुनवाला की सकसेस स्टोरी से हमें एक बात तो समझ आ ही गई कि अगर लाइफ में कुछ बड़ा करना है तो उसके लिए पहले रिस्क लेना पड़ेगा तभी आप कुछ बन पाएंगे.

Don't Miss! random posts ..