ENG | HINDI

कचरा बीनने-बीनते ये बच्चा बन गया करोड़पति, जानिए क्या अपनाया रास्ता

विक्‍की रॉय

विक्‍की रॉय – आपने फर्श से अर्श पर पहुंचने वाले कई लोगों की सक्‍सेस स्‍टोरी के बारे में सुना होगा और आज हम आपको एक ऐसे लड़के की सक्‍सेस स्‍टोरी के बारे में बताने जा रहे हैं जो कभी सड़कों और रेलवे स्‍टेशन पर कचड़ा बीनता था और आज करोड़ों का मालिक बन गया।

अगर आप ईमानदारी और मेहनत से काम करें तो जीवन में एक ना एक दिन आपको उसका फल जरूर मिलेगा। दुनिया में मेहनत ही एक ऐसी चीज़ है जो किस्‍मत को भी बदल देती है।

किस्‍मत भी उन्‍हीं लोगों का साथ देती है जो मेहनत करते हैं।

कचरा बीनने वाला विक्‍की रॉय बना करोड़प‍ति

पश्चिम बंगाल के पुरुलिया गांव के बेहद गरीब परिवार में जन्‍मा था विक्‍की नाम का लड़का। इस बच्‍चे पर बहुत ज्‍यादा अत्‍याचार किए गए थे जिस वजह से वो घर से भागने को मजबूर हो गया था। घर से भागकर वो दिल्‍ली आ गया था और यहां अपना पेट भरने के लिए कचरा बीनना शुरु कर दिया।

जब पैसों की जरूरत पड़ी तो वो एक होटल में काम करने लगा और वहीं उसकी मुलाकात एक ऐसे इंसान से हुई जो उसके लिए किसी फरिश्‍ते से कम नहीं था। उसने विक्‍की रॉय का एडमिशन सलाम बालक ट्रस्‍ट नामक संस्‍था में कक्षा 6 में करवा दिया। यहां से विक्‍की ने दसवीं तक की पढ़ाई पूरी की।

साल 2004 में वो पढ़ाई ही कर रहा था कि उसी समय उसी ट्रस्‍ट में फोटोग्राफी वर्कशॉप का आयोजन किया गया। इस आयोजन में ब्रिटिश फोटोग्राफर पिक्‍सी बेंजामिन आए थे लेकिन उस समय विक्‍की को इंग्लिश नहीं आती थी। इस वजह से उसे मौका नहीं मिल पाया था।

विक्‍की रॉय ने हार नहीं मानी और इसी बीच उसकी मुलाकात एनी मान नाम की फोटोग्राफर से हुई। उसने विक्‍की को अपने पास काम पर रखा और उसे 3000 रुपए महीने की सैलरी भी दी।

साल 2007 इंडिया हैबिटेंट सेंट में एक प्रदर्शनी का आयोजन किया गया जिसमें उन्‍होंने अपनी फोटोग्राफी की पहली प्रदर्शनी लगाई थी। इससे वो बहुत फेमस हुए और उनकी किस्‍मत चमक गई। इसके बाद उन्‍हें रामनाथ फाउंडेशन के लिए फोटोग्राफी करने का ऑफर मिला और ये भारत वो भारत से बाहर चले गए। इसके बाद जब वो वापिस लौटे तो उन्‍हें सलाम ट्रस्‍ट के द्वारा इइंटरनेशनल अवॉर्ड फॉर संग पीपल से नवाज़ा गया।

विक्‍की ने साल 2011 में अपने दोस्‍तों के साथ मिलकर एक किताब लिखी और स्‍टॉक फोटोग्राफी लाइब्रेरी खोली और फिर वह फोटोग्राफरों के साथ मिशन कवर शॉट के लिए श्रीलंका चले गए जहां उन्‍होंने अपनी पहली किताब होम स्‍ट्रीट लिखी जिसे नजर फाउंडेशन द्वारा पब्लिश करवाया गया।

आज विक्‍की रॉय देश की जानी-मानी हस्‍ती बन गए हैं और आज उनके पास पैसा और शोहरत दोनों हैं। अब वह एक इंटरनेशनल फोटोग्राफर हैं जिसके पास करोड़ों रुपए हैं। अब उन्‍हें विक्‍की रॉय के नाम से जाना जाता है।

इस कहानी को पढ़कर आपके हौंसले भी बुलंद हुए होंगें और आपको भी ये बात तो समझ आ ही गई होगी कि अगर मेहनत से काम लिया जाए तो हर मुश्किल आसान हो सकती है और जिंदगी में सफलता पाई जा सकती है। आप भी मेहनत करते रहें, एक ना एक दिन फल जरूर मिलेगा।

Don't Miss! random posts ..