ENG | HINDI

अगर आपके लिए भी पुलाव और बिरयानी एक है तो आप गलत हैं

पुलाव और बिरयानी

पुलाव और बिरयानी में क्या फर्क है?

सवाल- “क्या आपने पुलाव खाया है?”
जवाब- “ऑफकोर्स।”
सवाल- “क्या आपने बिरयानी खाई है?”
जावब- “ऑफकोर्स।”
सवाल- “आपको दोनों में से कौन सी चीज सबसे ज्यादा पसंद है?”

अगर इस सवाल का जवाब यह है कि “दोनों तो एक ही होते हैं” तो आप गलत हैं।

अधिकतर लोगों को लगता है कि पुलाव और बिरयानी एक होते हैं। मैं खुद दोनों चीजों को एक मानती थी। लेकिन ऐसा नहीं है। पुलाव और बिरयानी में जमीन-आसमान का अंतर है और इन दोनों के बीच का अंतर उनको ही मालूम होगा जिन्हें खाना बनाने का शौक है या हमेशा नई-नई चीजें खाना बनाने में ट्राय करता है। खैर यह तो प्रोफेशनल शेफ की बात हुई। लेकिन उन आम लोगों का क्या जिन्हें केवल खाने से मतलब है और पुलाव व बिरयानी को एक ही मानते हैं। ऐसे ही लोगों के लिए हम विस्तार से बताने वाले हैं कि पुलाव और बिरयानी में क्या अंतर है।

अलग होते हैं मसाले

पुलाव और बिरयानी

अधिकतर लोगों को लगता है कि पुलाव और बिरयानी एक ही तरह से बनाई जाती है और दोनों लगभग समान ही होती हैं। लेकिन ऐसा नहीं है। दोनों में काफी अंतर होता है। दोनों को बनाने की शुरुआत ही काफी अलग होती है। मतलब की दोनों को बनाने में अलग-अलग मसालों का इस्तेमाल होता है। बिरयानी मुगलों और नवाबों का खाना है जिसमें मुगलई मसाले जैसे जावित्री, दालचीनी, लौंग, इलायची, कर्णफूल, जायफल, शाही जीरा, केसर आदि का इस्तेमाल किया जाता है। वहीं पुलाव एक इंडियन डिश है जिसमें मसाले कम से कम यूज़ होते हैं और केवल स्वाद के लिए तेजपत्ता, लौंग और इलायाची यूज़ किए जाते हैं।

Contest Win Phone

पकाने का तरीका होता है अलग

दोनों को पकाने का तरीका पूरी तरह से अलग होता है। बिरयानी हमेशा कम आंच पर घंटों तक पकाई जाती है। जबकि पुलाव बनाने के दौरान तेज आंच पर मसाले भुने जाते हैं और मीडियम आंच पर 20 से 25 मिनट पकाया जाता है। बिरयानी बनाने के लिए चाहे टेराकोटा, कच्चा लोहा या तांबे के बर्तन का इस्तेमाल किया जाता हो, खुशबू को सुरक्षित रखने के लिए हमेशा बर्तन को सील कर बनाया जाता है।

अलग होती है लेयरिंग

पुलाव और बिरयानी

बिरयानी और पुलाव बनाने में लेयरिंग भी बिल्कुल अलग तरीके से की जाती है। बिरयानी बनाने में कई लेयर्स तैयार की जाती हैं। जैसे कि सबसे पहले प्याज और मसालों का लेयर होता है। फिर मांस की एक लेयर फ्राई की जाती है। फिर सब्जियों की एक लेयर तैयार की जाती है और उसके बाद चावल डाले जाते हैं। इस तरह से बिरयानी बनाने में चार लेयर तैयार किए जाते हैं।
जबकि पुलाव में सब्जियां, मसाले और चावल एक साथ भून कर उबाल दिये जाते हैं। इसलिए बिरयानी बनाने में एक घंटा से अधिक का समय लगता है जबकि पुलाव बनाने में मुश्किल से 25 मिनट लगते हैं।

चावल होते हैं अलग

पुलाव और बिरयानी

सबसे बड़ा डिफरेंस दोनों के चावल में होता है। बिरयानी बनाने के लिए पके चावल का इस्तेमाल किया जाता है। जबकि पुलाव बनाने के लिए सब्जियां, मसाले और चावल एक साथ पकाए जाते हैं।

तो ये है पुलाव और बिरयानी में डिफरेंस। अब आप समझ गए हैं कि दोनों ही चीजों में काफी अंतर है। आप इसे यूं कह सकते हैं कि पुलाव एक वेज़ डिश है और बिरयानी नॉनवेज डिश है। इसलिए अगली बार अपने लिए पसंदीदा डिश चुनने समय इन दोनों के बीच के डिफरेंस को याद रखें।

Contest Win Phone
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...

Don't Miss! random posts ..