ENG | HINDI

आपका फोन रखता है आप पर नजर !

मोबाइल फोन की लोकप्रियता

मोबाइल फोन की लोकप्रियता – आज के टाइम में हर कोई सबसे ज्यादा प्यार अपने मोबाइल फोन से करते हैं ।

रिपोर्टस के मुताबिक ज्यादातर लोग 24 में से 18 घंटे अपने मोबाइल फोन के साथ बीताते हैं ।

मोबाइल फोन की लोकप्रियता की एक बड़ी वजह इंटरनेट और सोशल मीडिया का तेजी से बढ़ रहा चलन हैं । लेकिन क्या आप जानते हैं आपका मोबाइल आप पर नजर रख रहा है ? आप कहां जाते है कहां रहते है आपको क्या पसंद है आपका जन्मदिन, आपके परिवार, गर्लफेंड फैन्स सभी के बारे कोई ओर जानता हो या न जानता हो लेकिन आपका फोन भलीभातिं जानता है ।

लेकिन आप सोच रहे होंगे कि ये कैसे संभव है.

मोबाइल फोन की लोकप्रियता

चलिए सबसे पहले आपको एक उदाहरण देकर इस चीज को समझाने की कोशिश करते हैं । आप जब किसी नए ऑफिस में इंटरव्यू के लिए एंटर करते हैं तो वहां मौजूद सीसीटीवी कैमरा आप पर नजर रखता है उसके बाद आप इंटरव्यू शुरु होने से पहले अपना रिज्यूम समिट करते हैं जिसमें आपसे संबंधित पर्सनल और प्रोफेशनल जानकारी होती है।

जिसके बाद वो कंपनी आपके बारे में बहुत सी बातें जान जाता है । फिर चाहे आप उस कंपनी के बारे ज्यादा कुछ न जानते हो । ऐसा ही कुछ हमारे मोबाइल फोन्स में होने वाली एक्टीविटीज के साथ भी होता है ।जब आप कोई एप डाउनलोड करते हैं तो एप डाउनलोड से पहले कंपनी की कुछ टर्म ओर कंडीनस आती है ।जिन्हें हमें से ज्यादातर लोग बिना पढ़े अग्री पर क्लिक कर देते हैं ।

साइन अप करते वक्त अपनी सारी जानकारी एप को दे देते है ।

मोबाइल फोन की लोकप्रियता

इसी तरह आप जिस भी एप को डाउनलोड करते है वो आपकी पर्सनल चीजों के इस्तेमाल और आप पर नजर रखने का अधिकारी हो जाता है । आपके मोबाइल फोन में मौजूद एप के जरिए कंपनियां आप पर नजर रखती है और जानती है कि आप कहां जा रहे है ? आप अब तक कहां – कहां जा चुके हैं ?  आप किस तरह की चीजें पसंद करते हैं आप किस को सबसे ज्यादा फोन करते है किसे सबसे ज्यादा बात करते हैं आपकी व्हाटसअप चैट में आपने किस को क्या मैसेज भेजा इन सभी चीजों का डेटा एप कंपनियां अपने पास रख लेती है और इन्हें उन कंपनियों को बेच देती है । जो इन जानकारियों का इस्तेमाल आपकी पसंद और नापसंद को ध्यान में रखकर आपके लिए प्रोडक्ट तैयार करता होता है ।

हाल ही में फेमस सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक को यूजर्स का डाटा बेचने पर करोड़ों का घाटा हुआ था ।

लेकिन केवल फेसबुक ही नहीं है जो अपनी यूजर्स का डाटा रखती है । सभी सोशल साइटस अपने यूजर्स की सभी जानकारी अपने पास रखती है । और वक्त आने पर उसका इस्तेमाल करती है । पिछले साल एक महिला ने डेटिंग एप टिंडर से अपनी निजता के अधिकार का इस्तेमाल करते हुए उनके पास मौजूद अपनी जानकारी मांगी थी । जिसके बाद टिंडर ने उस महिला को 900 पन्नों का डाटा दिया था। जिसमें उस महिला की सारी चैट, फोटो और वीडियो मौजूद थे । कंपनी के पास ऐसी तस्वीरें और चैट भी मौजूद थी जो बेहद निजी थी । जिन्हें महिला ने अपने पार्टनर को सेंड किया था ।

यही कारण है कि डेटा लीक को लेकर दुनियाभर के सभी बड़े देश अब अपनी प़ॉलिशीज को ओर सख्त करने जा रहे हैं। भारत और अमेरिका में भी ये मुद्दा काफी गरमाया हुआ है । क्योंकि मौजूदा कुछ रिपोर्टस के मुताबिक यूजर्स के पर्सनल डाटा का इस्तेमाल राजनीति में भी किया जा रहा है । जो कि किसी के स्वतंत्रता के हक को छीने जैसा है ।

मोबाइल फोन की लोकप्रियता – इसलिए यूजर्स को अपने मोबाइल फोन में किसी भी फ्री एप को डाउनलोड करने से पहले उसकी टर्म और कंडीशनस पर ध्यान देना जरुरी है ।

Don't Miss! random posts ..