ENG | HINDI

इन 3 लोगों को कोई भी देश नहीं मानता अपना नागरिक

नागरिकता

किसी देश के नागरिक के लिए उसकी नागरिकता बहुत मायने रखती है क्‍योंकि इसी के आधार पर वो अपने देश की सेवाओं को पा सकते हैं और अपना अधिकार भी मांग सकता है। किसी भी देश में ना अपनाए जाने का दर्द वही बता सकते हैं जिनका कोई देश और सरहद नहीं हो ती है।

ऐसे कई लोग हैं जो किसी भी देश को अपना नहीं कह सकते हैं। कुछ वजहों के कारण इनके हाथ से इनकी नागरिकता खो गई। किसी को देश से बाहर कर दिया गया तो कोई अपनी नागरिकता साबित करने के लिए जरूरी दस्‍तावेज नहीं दे पाया।

आज हम आपको कुछ ऐसे लोगों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्‍हें कोई भी देश अपनी नागरिकता देने को तैयार नहीं है।

महा मामो

लेबनान में पैदा हुईं महा मामो वो देश तलाश रही हैं जो उन्‍हें अपनाने को तैयार हो सके। महा के पिता सीरिया से थे और उसकी मां लेबनान की नागरिक थी। लेबनान में पैदा होने के बावजूद मामो को उसे वहां की नागरिकता इसलिए नहीं मिली क्‍योंकि उसके पिता सीरिया से थे। उसे सीरिया में भी इसलिए नागरिकता नहीं मिली क्‍योंकि सीरियन सरकार ईसाई पिता और मुस्लिम मां के बीच शादी को मान्‍यता नहीं देती है।

सेज चुंग च्‍युंग

इनके पिता हांगकांग के हैं और मां बेल्जियम की रहने वाली हैं। सेज को इन दोनों देशों ने नागरिकता देने से मना कर दिया है। वो हांगकांग में पैदा होकर बेल्जियम की नागरिकता का इस्‍तेमाल कर रहा था। जबकि बेल्जियम के कानून के मुताबिक ये जरूरी है कि जो भी नागरिक देश के बाहर पैदा हो उसे 18 से 28 साल की उम्र तक देश में रहना होगा या फिर 28 साल की उम्र से पहले देश लौटना होगा तभी उसे देश की नागरिकता मिलेगी। सेज ने इनमें से एक भी चीज़ पूरी नहीं की।

इउन जू

नॉर्थ कोरिया और चीन के नागरिक हो सकते थ इउन जू लेकिन ऐसा नहीं हो पाया। उसे इन दोनों में से किसी भी देश ने नहीं अपनाया। जू की मां और नानी चीन भागने से पहले नॉर्थ कोरिया की नागरिक थी। चीन में उसकी मां ने एक कोरियन चीनी शख्‍स से शादी कर ली थी। 2006 में चीन से साउथ कोरिया भागने के दौरान जू की मां गायब हो गई थी। वहीं उसके पिता की भी 2007 में एक्‍सीडेंट में मौत हो गई। साउथ कोरिया के कानून के अनुसार जिंदा पैरेंट्स के बिना ये देश किसी को भी नागरिकता नहीं देता है। भले ही ग्रैंड पैरेंट्स उसके जिंदा रिश्‍तेदार के तौर पर मौजूद हों।

शायद आप इन लोगों का दर्द ना समझ सकें क्‍योंकि हमारे पास तो हमारे देश की नागरिकता है। दुनिया में ऐसे बहुत कम ही लोग हैं जिनके पास किसी भी देश की नगारिकता नहीं है। आप भी समझ सकते हैं कि किसी देश की नगारिकता होना कितना जरूरी है क्‍योंकि इसके बिना आपका कोई वजूद नहीं है। कोई आपको जानता नहीं है और ना ही कोई आपको अपने देश में आने की इजाजत देगा। इन लोगों के बारे में इनसे जुड़े देशों को एक बार जरूर सोचना चाहिए।

Article Categories:
समाचार

Don't Miss! random posts ..