ENG | HINDI

पेट्रीसिया नारायण ! 50 पैसे रोजाना से 2 लाख रुपये रोजाना का सफ़र!

पेट्रीसिया नारायण

एक हादसे ने पूरी तरह तोड़ दिया

जब पेट्रीसिया नारायण का बिजनेस चल निकला तब उसने साल 2003 में अपनी बेटी की शादी कर दी और बेटा प्रविण मर्चेंट नेवी में नौकरी कर रहा था.

बेटी की शादी के बाद पेट्रीसिया अपना पहला रेस्टॉरेंट शुरु करनेवाली थीं कि एक कार एक्सीडेंट में उनकी बेटी और दामाद की मौत हो गई. इस दुर्घटना ने उन्हें तोड़ दिया और वो अपने वेंचर्स से दूर होने लगीं.

संदीपा रेस्टॉरेंट की शुरूआत

इस हादसे के बाद पेट्रीसिया नारायण के बेटे प्रवीण कुमार ने जिम्मेदारी संभाली और अपनी बहन की याद में ‘संदीपा’ नाम से पहले रेस्टॉरेंट की शुरूआत की.

sandeepa-

1 2 3 4 5 6 7

Don't Miss! random posts ..