ENG | HINDI

पाकिस्तान की ये महिलाएं दुनिया में सबसे ज्यादा चर्चा में रहती हैं क्योंकि

पाकिस्तान की महिलाएं

पाकिस्तान की महिलाएं  – जब भी हम पाकिस्तान में महिलाओं की स्थिति को लेकर सोचते हैं तो जहन में बस एक ही नाम आता है और है वो वहां की पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टों का.

लेकिन इसके अलावा भी पाकिस्तान में ऐसी महिलाएं हैं जिन्होंने न केवल अपने बल बूते पर पाकिस्तान में एक अलग मुकाम हासिल किया है बल्कि दुनिया को भी अपने काम के जरिए प्रभावित किया है.

पाकिस्तान की महिलाएं विश्व में अक्सर चर्चा होती है उनमें ये नाम प्रमुख है.

पाकिस्तान की महिलाएं

1 – बेनजीर भुट्टों के बाद जिस महिला ने राजनीतिक जगत में सबका ध्यान अपनी ओर खींचा है उसका नाम है हिना रब्बानी खर. हिना पाकिस्तान की विदेशी मंत्री भी रह चुकी है. 

2 – वर्ष 1929 में जर्मनी में पैदा हुईं रूथ 50 से ज्यादा सालों से पाकिस्तान में हैं. रूथ का पाकिस्तान की मदर टेरेसा कहा जाता है. रूथ ने पाकिस्तान में मेडिकल क्षेत्र में काफी काम किया. पाकिस्तान में लेप्रोसी पर नियंत्रण करने वाला देश बनाने में इनकी महत्वपूर्ण भूमिका है.

पाकिस्तान की महिलाएं

3 – मुख्तारन माई उन चंद लोगों में शामिल हैं जिन्होंने बिना डरे पाकिस्तान जैसे देशें में सालों तक केस लड़कर दोषियों को सजा दिलवाई. 2002 में पाकिस्तान के मुजफ्फरगढ़ जिले के मीरवाला में मुख्तारन माई का पंचायत  के आदेश पर चार लोगों ने रेप किया था.

पाकिस्तान की महिलाएं

4 – पाकिस्तान की पहली महिला नोबेल पुरस्कार विजेता मलाला यूसुफजई को दुनिया में कौन नहीं जानता. मलाला ने गुल मकई नाम से 2009 में डायरी लिखी थी. इस डायरी से नाराज तालिबान ने 2012 में उन पर जानलेवा हमला किया. मलाला ने धमकियों के बावजूद लड़कियों की पढ़ाई के लिए कोशिश करना नहीं छोड़ा.

पाकिस्तान की महिलाएं

5 – बिलकीस ईधी को मदर ऑफ पाकिस्तान माना जाता है. हाल में भारत में पाकिस्तान से आई गीता नामक लड़की काफी चर्चा में रही थीं. उसकी पाकिस्तान में देखभाल करने वाली बिलकीस ही हैं. वे ईधी फाउंडेशन की कर्ताधर्ता बिलकीस ऐसे बच्चों को अपने पास ले आती है, जिन्हें लोग सड़क किनारे और गंदगी में अनाथ छोड़ जाते हैं.

पाकिस्तान की महिलाएं

6 – समीना बेग माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने वाली पहली पाकिस्तानी महिला हैं. समीना बेग के नाम 21 बरस की उम्र में एवरेस्ट पर चढ़ने का रिकॉर्ड भी है. इसके अलावा समीना पहली पाकिस्तानी महिला हैं, जिन्होंने सेवन समिट्स पर चढ़ाई की है.

पाकिस्तान की महिलाएं

7  – शरमीन ओबेद इकलौती पाकिस्तानी हैं, जिन्हें ऑस्कर पुरस्कार मिला है.

पाकिस्तान की महिलाएं

शरमीन की दो शॉर्ट डॉक्यूमेंट्री ए गर्ल इन द रिवर और सेविंग फेस को अकेडमी अवॉर्ड मिला है. ए गर्ल इन द रिवर में शरमीन ने पाकिस्तान में ऑनर किलिंग के मुद्दे को दिखाया था. ये ऐसा विषय है, जिस पर पाकिस्तान में पहले कम ही बात होती थी.

ये है पाकिस्तान की महिलाएं  – इन महिलाओं के अलावा भी पाकिस्तान में कई ऐसी महिलाएं हैं जिन्होंने कट्रपंथियों की धमकी के बावजूद आगे बढ़ना नहीं रोका. सबीन महमूद, और पाकिस्तान की पहली महिला कार्टूनिस्ट निगार नजर भी ऐसी महिलाएं हैं, जिन्होंने अपने दम पर पाकिस्तानी समाज में अपनी अलग पहचान बनाई है.

Don't Miss! random posts ..