ENG | HINDI

नहीं बदल रहा अड़ियल पाकिस्तान सेना प्रमुख ने भारत को धमकाया

पाकिस्तान का अड़ियल रवैया

पाकिस्तान का अड़ियल रवैया – भारत-पाकिस्तान के संबंध इतने बिगड़ चुके हैं कि लगता नहीं है ये दोनों देश कभी दोस्त बन पाएंगे.

कश्मीर को लेकर पाकिस्तान का अड़ियल रवैया बदलने को तैयार नहीं है. हूकूमत भले ही बदल गई हो, मगर पाकिस्तान नहीं बदला और न ही कश्मीर को लेकर उसके विचार ही बदले हैं.

पाकिस्तान के नए सेना प्रमुख ने एक बार फिर से वही राग अलापते हुए भारत को धमकी दे डाली है.

पाकिस्तान के नए सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा ने कुछ ऐसा कर दिया है जिससे पाकिस्तान और भारत के संबंधों के सुधरने की उम्मीदों पर पानी फिर गया है. बाजवा ने कहा कि ‘आजादी की लड़ाई में हम कश्‍मीर के साथ हैं. कश्‍मीर के भाईयों-बहनों की कुर्बानी को हम सलाम करते हैं. हम सरहद पर बहे लहू का हिसाब लेंगे’.

भारत के साथ 1965 की लड़ाई की 53वीं सालगिरह के मौके पर शुक्रवार को पाकिस्तान में आयोजित रक्षा दिवस कार्यक्रम में पाक सैन्‍य प्रमुख ने कुछ इस तरह से भारत को धमकाया.

उन्‍होंने फिर कश्मीर का राग छेड़ते हुए कहा कि ‘हम कश्मीर के भाईयों और बहनों द्वारा उनकी आजादी की लड़ाई में दी जाने वाले कुर्बानी के लिए सलाम करते हैं’.

बाजवा ने कहा कि दो दशको में युद्ध के तरीके बदल गए हैं और पाकिस्तान को कमजोर करने की कोशिश की जा रही है. जनरल ने कहा कि अब तक 76,000 सैनिक खोए हैं और उनकी कुर्बानी बेकार नहीं जाएगी.

वहीं दूसरी ओर प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी कश्मीर का ज़िक्र किया, मगर उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र के प्रत्सावों के हिसाब से कश्मीर समस्या का हल निकालने की बात कही. इमरान ने भी बाजवा की यह बात दोहराई कि 15 सालों से पाकिस्तान के दुश्मनों ने देश को तोड़ने की बहुत कोशिश की, लेकिन वे कामयाब नहीं हो पाए. इमरान खान और सैन्य प्रमुख बाजवा के बयानों से साफ है कि पाकिस्तान में सरकार चाहे जिसकी भी बन जाए कश्मीर का राग वो हमेशा अलापते ही रहेंगे, वो किसी भी कीमत पर कश्मीर को छोड़ने के लिए तैयार नहीं है.

ये है पाकिस्तान का अड़ियल रवैया – पाकिस्तानी हुकुमरानों की बातों से साफ है कि भारत को पाकिस्तान से शांति की बहुत ज़्यादा उम्मीद नहीं करनी चाहिए.

Don't Miss! random posts ..