ENG | HINDI

ऑनलाइन शॉपिंग या ट्रांजैक्शन करते वक्त रखें ये सावधानियाँ !

ऑनलाइन शॉपिंग या ट्रांजैक्शन

इंटरनेट के इस दौर में ऑनलाइन शॉपिंग या ट्रांजैक्शन का ट्रेंड काफी तेजी से बढ़ा है और बढ़ता ही जा रहा है.

ऐसे में ई-कॉमर्स अब एक बड़े ट्रेंड के रुप में उभर रहा है. साथ ही बढ़ रहा है हैकर्स का खतरा. इसलिए हमें ऑनलाइन शॉपिंग या ट्रांजैक्शन करते समय कुछ बातों को लेकर अत्यंत ही सावधान रहना चाहिए. नहीं तो हैकर्स हमें आर्थिक रुप से नुकसान पहुंचा सकते हैं.

यहां बात ऐसी हीं हो जाती है कि सावधानी हटी, दुर्घटना घटी जैसी. लेकिन हम अगर कुछ सावधानियां बरतें, तो इन खतरों से बच सकते हैं.

तो चलिए हम आपको ऐसीे हीं कुछ बातें बता रहे हैं, जिससे ऑनलाइन शॉपिंग या ट्रांजैक्शन के वक़्त आप हैकर्स से होने वाले खतरों से बच सकते हैं.

जब आप ऑनलाइन शॉपिंग या ट्रांजैक्शन करे –

1 – एनक्रिप्शन

एंक्रिप्शन से किसी भी डेटा को प्रोटक्ट किया जाता है. ताकि नेटवर्क में रहते समय हमारे डेटा को किसी तरह के नुकसान का सामना ना करना पड़े. या फिर वो चोरी ना हो सके. इसलिए कभी भी डेटा डालने से पहले ये जरूर चेक कर लें की वेबसाइट एंक्रिप्शन का इस्तेमाल कर रही है या नहीं. कैसे चेक करें एंक्रिप्शन ? किसी भी वेबसाइट के एंक्रिप्शन को चेक करने के लिए उसका url देखें. अगर url में https है तो इसका मतलब है कि वह वेबसाइट एनक्रिप्टेड है.

2 – लेटेस्ट सिक्योरिटी सॉफ्टवेयर इंस्टॉल करें

इंटरनेट पर स्पैम और सॉफ्टवेयर भरपूर मात्रा में पर्याप्त हैं. इसलिए किसी तरह की परेशानी से बचने के लिए सबसे अच्छे प्रोटेक्शन वाले एंटीवायरस का उपयोग करें. फ्री एंटीवायरस सिर्फ फिशिंग, मालवेयर और ट्रोजन से बचाव करता है. इसलिए हर तरह की सुरक्षा के लिए एंटीवायरस का फुल वर्जन खरीद कर इसे अपने कंप्यूटर में इंस्टॉल करें.

3 – ऑटो अपडेट का इस्तेमाल करें

आप अपने कंप्यूटर में जो भी एंटीवायरस सॉफ्टवेयर प्रोटक्शन यूज कर रहे हैं. उसके लिए ऑटो अपडेट होते रहना बहुत ही आवश्यक होता है. इसलिए अपने सॉफ्टवेयर का ऑटो अपडेट फंक्शन हमेशा ऑन रखना चाहिए.

4 – अलग-अलग पासवर्ड का उपयोग करें

हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि ऑनलाइन ट्रांजेक्शन के लिए कॉमन पासवर्ड का इस्तेमाल ना करें. क्योंकि अगर किसी हैकर को आपके पासवर्ड का एक्सेस मिल जाता है तो वह आपके सभी अकाउंट तक अपनी पहुंच आसानी से बनाने में कामयाब हो सकता है. क्योंकि सिंपल सी बात है कि आपने हर जगह एक ही पासवर्ड का इस्तेमाल किया है. इसलिए जरूरी है कि खुद को सुरक्षित रखने के लिए ट्रांजैक्शन के लिए अलग-अलग पासवर्ड का इस्तेमाल हीं करें.

5 – कैश ऑन डिलीवरी ऑप्शन

बहुत सारे वेबसाइट होते हैं जो कैश ऑन डिलीवरी का ऑप्शन देती है. तो इसका इस्तेमाल जरुर करें. ऐसा करने से आपको फायदा यह होता है कि ऑनलाइन पेमेंट करने से आप बच जाते हैं. जिसकी वजह से आपके अकाउंट की जानकारी हैकर्स को नहीं लग पाता.

6 – ऑफर्स से डील करना

आपको तरह-तरह के लुभावने ऑफर्स मेल के द्वारा आते रहते हैं. इस तरह के ऑफर का इस्तेमाल करके कई तरह के डिस्काउंट आप ले सकते हैं. ऐसे में कोशिश करें कि सीधे रिटेलर की वेबसाइट पर जाकर ही अपनी जानकारियां दें. किसी कूपन या लिंक में अपनी जानकारी देना आपके लिए असुरक्षित हो सकता है.

7 – वेबसाइट का डिजिटल सर्टिफिकेट चेक करें

किसी भी वेबसाइट पर ऑनलाइन ट्रांजेक्शन करने से पहले डिजिटल सर्टिफिकेट जरूर देखिए. यह किसी भी वेबसाइट की वैधता को दर्शाता है.

8 – पब्लिक कंप्यूटर का इस्तेमाल करने से बचें

किसी भी तरह का ट्रांजेक्शन करने के लिए अपने पर्सनल लैपटॉप, कंप्यूटर, मोबाइल या फिर टैबलेट जैसे इलेक्ट्रॉनिक सामानों का ही इस्तेमाल करें. ध्यान रखें कि कभी भी कोई पब्लिक कंप्यूटर या किसी दूसरों के गैजेट का इस्तेमाल ट्रांजेक्शन के लिए ना करें. और ना ही कभी भी किसी पब्लिक वाई-फाई पर फाइनैंशियल ट्रांजैक्शन करनी चाहिए.

9 – जानकारियां चुराने वाले फिशिंग ई-मेल से बच कर रहें

किसी भी थर्ड पार्टी के द्वारा दिए गए प्रमोशनल मेल से बचें. जो आपकी पर्सनल जानकारी मांग रहा हो. बहुत सारे लोग ऐसे हैं जो इस तरह के झांसे में आकर अपना पैसा गवा चुके हैं. इस बात का ध्यान अवश्य रखें कि कोई भी बैंक मेल के द्वारा अपने ग्राहक से उसकी पर्सनल जानकारी नहीं मांगता.

10 – ब्रांडेड मर्चेंट से हीं खरीदारी करें

ऑनलाइन शॉपिंग या ट्रांजैक्शन करते समय इस बात का ध्यान अवश्य रखें कि आप किसी ब्रांडेड मर्चेंट से हीं खरीदारी करने जा रहे हैं. कभी भी खुद की जानकारी ऐसे कहीं भी नहीं डालनी चाहिए.

इस तरह से ऑनलाइन शॉपिंग या ट्रांजैक्शन करते वक़्त सावधानी बरते – ये ऐसी कुछ बातें हैं, जिन्हें ध्यान में रखकर आप उन हैकर्स से बच सकते हैं, जो लोगों के पर्सनल डेटा चुराकर उन्हें नुकसान पहुंचाने का काम करते हैं.

Don't Miss! random posts ..