ENG | HINDI

यह 5 काम बिलकुल ना करें स्त्रियाँ ! चाणक्य के अनुसार इसी तरह की स्त्रियाँ हो जाती हैं पथभ्रष्ट

स्त्रियाँ

चाणक्य ने जो बातें आज से हजारों साल पहले बोली थीं, वह बातें आज भी उसी तरह से सजीव हैं.

हमें कैसा जीवन जीना चाहिए और किस तरह के गुण व्यक्ति में होने चाहिए, सब कुछ महान चाणक्य ने बता रखा है.

वैसे जो बातें इन्होनें तब कहीं थीं, उनका वजूद जो आज और भी ज्यादा बढ़ गया है. ऐसा लगता है कि जैसे यह सभी बातें चाणक्य ने आज ही के लिए लिखी हुई थीं.

तो आज इसी क्रम में हम आपको वह 5 बातें बताने वाले हैं जो चाणक्य ने स्त्रियों के लिए लिखी हैं.

इनके अनुसार इस तरह की स्त्रियाँ समाज में अपना सम्मान खो देती हैं-

1. पराये घर में अधिक दिन रहनेवाली स्त्रियाँ 

अगर कोई स्त्री पराये घर में अधिक दिन तक रहती है तो उस पर गलत लोगों की निगाह पड़ने लगती है. इस कारण से उसका चरित्र सही नहीं बना रहता है. लोग तरह-तरह की बात करते हैं जो स्त्री के लिए सही नहीं होता है.

2. शादी के बाद पति के घर जो अधिक दिनों के लिए इन्हीं छोड़ना चाहिए

अगर किसी स्त्री का विवाह हो गया है तो उस स्त्री को अधिक दिन के लिए अपने पति के घर से दूर नहीं रहना चाहिए. पति के घर से दूर रहकर इस तरह की स्त्रियाँ समाज में से मान-सम्मान खो देती है.

3. अकारण घुमने वाली स्त्रियाँ

चाणक्य ने अध्याय छह के अन्दर लिखा है कि वह स्त्री जो अकारण ही इधर-उधर घूमती रहती है. इधर-उधर घूमने वाली स्त्री गलत लोगों के जाल में फँस जाती है और अपना जीवन बर्बाद कर लेती है.

4. नशा इत्यादि करने वाली स्त्रियाँ

जो महिला नशा करती है, वह जल्द ही अपनी मातृत्व शक्ति को खो देती है और गलत संगती में रहने से उसका चरित्र भी खराब हो जाता है.

5. हर लड़के या पुरूष पर विश्वास करने वाली स्त्रियाँ

वह स्त्री जो तुरंत हर लड़के या पुरूष पर विश्वास कर लेती है और आखें बंदकर उनकी बातें मानने लगती हैं वह तो सबसे जल्दी पथभ्रष्ट हो जाती हैं.

तो बेहतर होगा कि आप इस तरह की गलत आदतों को जल्द से जल्द खुद से दूर कर दें. बेहतर जीवन जीने के लिए बेहतर लोगों के साथ रहना भी जरुरी होता है.

Article Categories:
जीवन शैली

Don't Miss! random posts ..