ENG | HINDI

उत्तर कोरिया के बड़े देशों से पंगा लेने के पीछे ये है कारण

तानाशाह किम जोंग

तानाशाह किम जोंग – उत्तर कोरिया हमेशा से ही अमेरिका, रूस जैसे बड़े देशों से पंगे लेता आ रहा है।

हाल ही में उत्तर कोरिया ने जापान जैसे ताकतवर देश को भी नहीं छोड़ा। उत्तर कोरिया ने इस बार जापान के ऊपर मिसाइल परीक्षण कर के पूरी दुनिया को दहला दिया है। जापान द्वारा उत्तर कोरिया पर कई कड़े प्रतिबंध लगाए गए हैं जिसके कारण ही उत्तर कोरिया ने यह अविश्‍वसनीय कदम उठाया है।

हालांकि ऐसा पहली बार नहीं है जब तानाशाह किम जोंग उन ने जापान के ऊपर कोई मिसाइल परीक्षण किया हो। इससे पहले भी 29 अगस्त को उत्तर कोरिया ने जापान के ऊपर से एक एंटी बैलेस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया था।

चीन और रूस का अटूट समर्थन है उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग के साथ

उत्तर कोरिया यूं ही इतने बड़े देशों से पंगे नही ले रहा है। इसके पीछे रूस और चीन जैसे शक्तिशाली देशों का हाथ है। रूस और चीन, उत्तर कोरिया के ज़रिए अमेरिका और उसके सहयोगी देशों को खत्म करना चाहते हैं।

यही कारण है कि जब भी अमेरिका, जापान या दक्षिण कोरिया, उत्तर कोरिया पर कोई भी प्रतिबंध लगाते हैं तो रूस और चीन इसका विरोध करने उत्तर आते हैं।

ट्रम्प के लगाए सभी प्रतिबंध लागू होने से उत्तर कोरिया का सांस लेना भी मुश्किल हो जाता लेकिन अफसोस ट्रम्प इसमें नाकाम रहे। उत्तर कोरिया यह अच्छी तरह से जानता है कि जबतक रूस और चीन जैसे देशों का समर्थन उसके साथ है तब तक अमेरिका और दूसरे देश खुलकर किम जोंग उन के खिलाफ युद्ध की घोषणा नहीं कर सकते।

देखा जाए तो यह तानाशाह किम जोंग केवल चीन और रूस के कारण इतना उड़ रहा है अन्यथा अमेरिका और जापान जैसे विकसित देशों को उत्तर कोरिया को खत्म करने में ज्यादा समय नहीं लगेगा।

आपको बता देंकि रूस और चीन के इसी समर्थन के कारण अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की नीति स्पष्ट दिखाई नहीं दे रही है, वह उत्तर कोरिया के इस मुद्दे पर कभी दो कदम आगे तो कभी एक कदम पीछे ले रहे हैं।

Don't Miss! random posts ..