ENG | HINDI

अखबार पढ़ेंगे ऐसे तो करियर में मिलेगी सफलता !

अखबार का महत्व

अखबार का महत्व – अखबार का महत्व समझने के लिए आपको खुद का महत्व समझना होगा। क्योंकि जब सारे हथियार बेअसर हो जाते हैं तो अखबार ही काम आता है।

इसलिए तो 1857 की क्रांति जब असफल हो गई थी तो कलमकारों ने ही जिम्मेदारी संभाली थी और तब मशहूर शायर अकबर इलाहबादी को कहना पड़ा था- खींचो न कमानों को न तलवार निकालो, जब तोप मुक़ाबिल हो तो अख़बार निकालो।

तो ये था अखबार का महत्व । हर युग में और हर जमाने में अखबार का महत्व अहम् हुआ है – लेकिन सोशल मीडिया और इंटरनेट के स्मार्टयुग में अखबार के जीवन को लेकर उंगलियां उठने लगी हैं। कुछ विशेषज्ञों का अनुमान है कि अखबार बंद हो जाएगा, अखबार का महत्व मिट जायेगा । लेकिन ये शायद मुमकिन नहीं। अपने देश में तो बिल्कुल भी नहीं। क्योंकि हमारे देश में अखबार केवल घटनाओं और खबरों के बारे में जानकारी लेने का जरिया है बल्कि यह विद्यार्थियों के लिए करियर में सफल होने का भी जरिया है।

विद्यार्थी और अखबार

वैसे तो अखबार सुबह की चाय के साथ हर घर में पढ़ा जाता है। लेकिन विद्यार्थियों के जिंदगी का यह बहुत जरूरी हिस्सा है। अखबार की यही खासियत होती है कि इसमें हर वर्ग के लोगों के लिए कुछ ना कुछ होता है और जिस दिन से आप इसे पढ़ना शुरू कर देते हैं उसी दिन से आपको इसके फायदे दिखने लगते हैं। इन फायदों में करियर की सफलता भी शामिल है। अब आप के मन में सवाल आ रहा होगा कि अखबार से सफलता कैसे मिलती है? इसका जवाब आपको इन पांच प्वाइंट में मिलेगा।
आज इस आर्टिकल में हम आपको अखबार के जरिये करियर में सफल होने का तरीका बताएंगे।

अखबार का महत्व

रुटीन में डालता है जीवन

नियमित रुप से अखबार पढ़ने से लोगों की दिनचर्या भी नियमित हो जाती है और दिनभर का काम करने में उन्हें परेशानी भी नहीं होती है। स्कॉटलैंड में हुए एक शोध के मुताबिक जो लोग नियमित रूप से अखबार पढ़ते हैं उनका स्वास्थ्य अखबार ना पढ़ने वालों की तुलना में 20 प्रतिशत बेहतर होता है। इसी शोध में यह बात भी सामने आई है कि नियमित तौर पर अखबार पढ़ने से तनाव भी कम रहता है और पूरा दिन खुशनुमा रहता है।

मस्तिष्क रहता है सक्रिय

अखबार में हर वर्ग के लिए कुछ ना कुछ होता है जिसके कारण इसे नियमित तौर पर पढ़ने से हर किसी का दिमाग नियमित तौर पर सक्रिय रहता है। एक शोध में यह दावा किया गया है कि अखबार ना पढ़ने वालों की तुलना में अखबार पढ़ने वालों का दिमाग 32 फीसदी ज्यादा सक्रिय रहता है। रोजाना अखबार पढ़ने से फोकस क्षमता भी बढ़ती है।

अखबार का महत्व

जानकारी का सागर

अखबार जानकारी की खदान है। इसमें हर तरह की जानकारी होती है। हिस्टोरिकल से लेकर पॉल्टिकल, विज्ञान से लेकर लैंग्वेज तक की सारी जानकारी एक अखबार में मिल जाती है। इसलिए अगर नियमित तौर पर कोई अखबार पढ़ता है तो दो साल में उसकी जानकारी में स्कूल या कॉलेज में नियमित तौर पर पढ़ने वाले छात्र से अधिक होती है।

अखबार का महत्व

भाषा में सुधार

रोजाना अखबार पढ़ने से भाषा के स्तर में भी सुधार होता है। हम हिंदुस्तानियों के लिए तो अंग्रेजी सीखने का एकमात्र साधन अखबार ही माना जाता है। इसके अलावा नियमित तौर पर एडिटोरियल पेज पढ़ने से अखबार पढ़ने वाला रीडर किसी भी विषय पर मजबूती से अपनी राय भी रख लेता है। अमेरिकी शिक्षाविदों और मनोवैज्ञानिकों द्वारा किए गए शोध के अनुसार अखबार नियमित पढ़ने वाले लोगों के मित्र भी अधिक और अलग-अलग क्षेत्रों से होते हैं क्योंकि वे राजनीति, अर्थशास्त्र, सामान्य ज्ञान, खेल, फिल्म और व्यापार जैसे विषयों पर जानकारी रखते हैं। साथ ही पाठकों के विचारों में भी बढ़ोतरी होती है और उसका आत्मविश्वास भी बढ़ता है।

छात्रों के लिए महत्वपूर्ण

रोजाना अखबार पढ़ने वाले छात्रों का करेंट अफेयर्स अपडेटेड रहता है और उन्हें यह भी मालूम होता है कि कौन सी जॉब कब निकलने वाली है। साथ ही करेंट अफेयर्स अपडेटेड रहने से ये हर वक्त इंटरव्यू के लिए तैयार रहते हैं जिसके कारण ये कभी भी वॉक-इन इंटरव्यू के लिए किसी भी कंपनी में जाने से नहीं डरते। इसलिए इनके करियर का ग्राफ भी हमेशा बढ़ते रहता है।

ये है अखबार का महत्व – तो अब आपको मालूम हो गया होगा कि रोज अखबार पढ़ने से आपको कई सारे फायदे होते हैं। अगर विश्वास नहीं होता तो आज से ही रोज अखबार पढ़ना शुरू कर दें। आपको दो महीने में ही फर्क नजर आने लगेगा।

Don't Miss! random posts ..