ENG | HINDI

सेना प्रमुख और प्रधानमंत्री की गुप्त मीटिंग में सेना को दिया ये आदेश

नवाज शरीफ और राहिल शरीफ

नवाज शरीफ और राहिल शरीफ के बीच एक गुप्त मीटिंग हुई.

इस मीटिंग की खबर जैसे ही भारत को लगी तो भारत ने भी अपनी सेनाओं को हाई अर्लट कर दिया है.

जम्मू कश्मीर के दौरे पर गए थल सेना प्रमुख दलबीर सिंह सुहाग ने सेना को किसी भी चुनौती से निपटने के लिए तैयार रहने की जो बात कही है उसके बहुत ही गहरे मायने है और सैन्य स्तर पर उसको बहुत गंभीरता से लिया जा रहा हैं.

दरअसल, पाकिस्तान में इस समय जिस प्रकार के हालात है उसको देखते हुए भारत कोई लापरवाही नहीं बरतना चाहेगा.

पाकिस्तान में पिछले कुछ दिनों में सैन्य और राजनीतिक समीकरण बहुत तेजी से बदले हैं. इधर भारत में काले धन को लेकर देश के अंदर जो हालात है पाक उसका लाभ लेने की पूरी कोशिश मे हैं.

पाकिस्तान एक भारतीय सेना द्वारा अपने 7 जवानों की मौत के बाद बौखलाया हुआ है. दूसरे पानमा लीक मामले में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ गर्दन फंसती नजर आ रही है.

पाकिस्तानी सुप्रीम कोर्ट में सुनवायी कर रही पांच जजों की पीठ के रुख से लग गया है कि फैसला नवाज शरीफ के खिलाफ आ सकता है. नवाज शरीफ ने कालेधन को विदेशों में निवेश करने के आरोप का बचाव करते हुए कतर के राजकुमार की चिट्ठी कोर्ट में पेश की थी वह उनके गले में फांसी का फंदा बन गयी.

एक ओर जहां नवाज शरीफ कानूनी शिकंजे में फंसते नजर आ रहे हैं वहीं कोर्ट में पाक सेना प्रमुख की सेवा विस्तार की अर्जी खारिज हो गई है. इसके बाद जिस प्रकार नवाज शरीफ और राहिल शरीफ ने अपने सभी मतभेद भुलाकर एक गुप्त बैठक की है उसके बाद कयास लगने शुरू हो गए हैं कि नवाज शरीफ और राहिल शरीफ ने आपस में गुपचुप समझौता कर लिया है.

पाकिस्तानी मामलों के जानकारों का मानना है कि अदालत के फंदे में फंसे नवाज शरीफ के सामने अपने बचाव के लिए सिर्फ एक ही रास्ता है कि वो कश्मीर का रोना रोकर जंग का ऐलान कर दें. जंग का ऐलान होते ही पूरे पाकिस्तान का रुझान भारत के खिलाफ हो जायेगा और उन्हें आवाम की सहानुभूति मिल सकती है. वहीं युद्ध की या भारत से संघर्ष की स्थिति में राहील शरीफ को भी सेना प्रमुख के पद पर विस्तार मिल जाएगा.

पाकिस्तान भारत की सीमा से जुड़े सामरिक तौर पर संवेदनशील क्षेत्र में एक सैन्य अभ्यास कर रहा है.

वहीं नवाज शरीफ और राहिल शरीफ किसी भी स्थिति से निपटने के लिए सैन्य अभ्यास की समीक्षा कर रहे हैं. उसको भारत बहुत ही गंभीरता से ले रहा है.

भारतीस सेना प्रमुख दलबीर सुहाग द्वारा सेना को किसी भी स्थिति से निपटने के लिए अलर्ट रहने को भी इससे जोड़कर देखा जा रहा है.

पिछले दिनों भारतीय सेना द्वारा पाक के 7 सैनिकों के मौत के बाद यह सैन्य अभ्यास आयोजित किया गया है जिसमें हेलीकाप्टर गनशिप और सैनिकों ने सैन्य अभ्यास किया है.

पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट पनामा लीक मामले की सुनवाई 17 नवंबर को करेगी. जानकारों का मानना है कि अगर कोर्ट का रुख और सख्त हुआ तो नवाज शरीफ खुद को बचाने के लिए भारत के संघर्ष जैसा कोई बड़ा कदम भी उठा सकते हैं.

Don't Miss! random posts ..