ENG | HINDI

महेन्द्र सिंह धोनी का टिकट कलेक्टर से करोड़पति तक का सफर

महेन्द्र सिंह धोनी

कहावत है – “खुदी को कर बुलंद इतना की खुदा खुद बन्दे से पूछे कि बता तेरी रज़ा क्या है”

यह कहावत महेन्द्र सिंह धोनी पर सटीक बैठता है. क्योकि महेन्द्र सिंह धोनी ने एक टिकट कलेक्टर से करोड़पति बनने तक का सफर तय किया है.

7 जुलाई 1981 के दीन महेन्द्र सिंह धोनी का जन्म बिहार के रांची जिल्हे में हुआ.

धोनी को बचपन से ही क्रिकेट खेलने की दीवानगी थी.  धोनी सचिन तेंदुलकर की तरह ऑल राउंडर बनना चाहते थे, इसलिए उन्होंने क्रिकेट की ट्रेनिंग लेनी शुरू कर दी. धोनी ने बिहार और झारखंड की टीम की ओर से खेलना भी शुरू कर दिया. लेकिन शुरुआती करियर में स्पोर्ट्स कोटे से नौकरी पाने के लिए धोनी को काफी भटकना पड़ा था. आखिरकार, मशक्कत के बाद  2001 में धोनी को खड़गपुर में रेलवे टिकट कलेक्टर की नौकरी मिली.

हालांकि वह अपने टैलेंट के दम पर इंडियन क्रिकेट टीम में सेलेक्ट हुए और वहीं से उनकी सफलता की कहानी बढ़ती गई.

महेन्द्र सिंह धोनी पहली बार 2004-05 में बांग्ला देश टूर पर गए और अपने बल्ले के चमत्कार से क्रिकेट की दुनिया में अपना नाम दर्ज किया. और फिर यहां से उनके सफलता का कारवां बढ़ता ही चला गया.

टीम इंडिया के सबसे सफल कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी, क्रिकेट के अलावा बिजनेस के मैदान पर भी सफल हैं.

अभी महेन्द्र सिंह धोनी की 6 कंपनियों में हिस्सेदारी है. आपको बतादे कि इस वक्त धोनी 650 करोड़ के मालिक है.

टिकट कलेक्टर से करोड़पति तक का सफर कैसे पूरा किया गया ?

और वो कौन सी कम्पनिया है जिसके मालिक है धोनी, आइये आपको बताते है…

1 . रिती एमएसडी अल्मोड़े प्रायवेट लिमिटेड 

धोनी शुरू से ही खेलों में फिटनेस को प्रमुखता देते आए हैं. इसी वजह से ही धोनी के मन में फिटनेस सेंटर चेन खोलने का आइडिया आया. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक धोनी ने 2012 में रिति स्पोर्ट्स मैनेजमेंट प्राइवेट लिमिटेड के साथ मिलकर इस कंपनी को शुरू किया. इस कंपनी में धोनी की 65 % की हिस्सेदारी है.

2 . आम्रपाली माही डेवलपर्स प्रायवेट लिमिटेड

आम्रपाली माही डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड 5 साल पुराना एक ज्वाइंट वेंचर है. धोनी की पत्नि साक्षी कंपनी की डायरेक्टर हैं और उनकी इसमें 25 फीसदी हिस्सेदारी है. हालांकि कुछ दीनो पहले धोनी ने विवाद के चलते कंपनी से अपना नाता तोड़ दिया पर अभी भी साक्षी कंपनी की डायरेक्टर पद पर कार्यरत है.

3 . सेवेन फिटनेस फुटवियर 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक स्पोर्ट्स एक्टिविटी में स्टाइलिश कपड़े और फुटवियर बनाने वाली कंपनी SEVEN के साथ भी धोनी जुड़े हैं. इसमें रिति स्पोर्ट्स के साथ उनकी 40 % की हिस्सेदारी है.

4 . RHITI-MSD एन मोटर प्राइवेट लिमिटेड (मोटर रेसिंग टीम)

एमएस धोनी को मोटर रेसिंग से शुरू से लगाव रहा है. धोनी ने इस तरह की स्पोर्ट्स एक्टिविटी को बढ़ावा देने के लिए रिति स्पोर्ट्स के साथ मिलकर 2012 में  RHITI-MSD एन मोटर प्राइवेट लिमिटेड नाम की कंपनी  शुरू की, जिसमे उन्हें 45 % की हिस्सेदारी दी गई है.

5 . ऑप्टिमम विजिलेंस सॉल्युशन प्राइवेट लिमिटेड 

ऑप्टिमम विजिलेंस सॉल्युशन प्राइवेट लिमिटेड दिल्ली बेस्ड कंपनी है, जो सीसीटीवी कैमरे और बॉयोमेट्रिक मशीन बनाती है. रिपोर्ट के मुताबिक इस कंपनी में धोनी के अलावा उनकी पत्नी साक्षी धोनी और बहन ज्योति गुप्ता हिस्सेदार है.

6 . इंस्पायर्ड इंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड (इंटरटेनमेंट कंपनी)

धोनी आज इंटरटेनमेंट बिजनेस से भी जुड़े हैं. वह इंस्पायर्ड इंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड के जरिए अपनी बॉयोपिक फिल्म में को-प्रोड्यूसर भी हैं। कंपनी में धोनी और रिति स्पोर्ट्स की साझा 33 % हिस्सेदारी है.

आपको ये बात दिलचस्प लगेगी कि धोनी 17 ब्रांडों के अम्बेसेडर भी है.

एक प्रख्यात, मैगजीन के अनुसार धोनी को दुनिया का 23 वे नंबर का करोड़पति माना जा रहा है. मैगजीन के अनुसार धोनी 117 करोड़ रूपये सालाना कमाते है. उसके बाद टीम इंडिया से उन्हें जो लाखो तनख्वाह मिलती है वो अलग.

कहते है कोशिश करने वालो की हार नही होती, उपरवाला खुद उसके लिए रास्ता बनाता चला जाता है. ऐसा ही कुछ धोनी के साथ भी हुआ.

करोड़पति होने के आलावा महेन्द्र सिंह धोनी एक बढियां इंसान भी है और यही वजह है कि उन्होंने रूपये के साथ साथ करोडो इंसानो का दिल भी कमाया है.

हमारा आपसे यही कहना है की तुम जियो हज़ारो साल, साल के दीन हो हज़ार साल.

आपके इस जस्बे को सलाम.

Don't Miss! random posts ..