ENG | HINDI

कश्मीर में माँ की पुकार पर सरेंडर कर रहे हैं आतंकवादी !

माँ की पुकार पर सरेंडर कर रहे हैं आतंवादी

माँ की पुकार पर सरेंडर कर रहे हैं आतंवादी – भारत पाकिस्तान की रंजिस में हमेशा से कश्मीर पीसता रहा है जिस वजह से कशीर भारत का हिस्सा हो होने के बावजूद भी आज तक अन्य राज्यों की तरह सूकून की जिंदगी नही जी पाएं ।

कश्मीर में रह रहे मुस्लिम परिवारों के लङको जबरन आतंकवादी बने पर मजबूर किया जाता है । जिस वजह स घाटी में विद्रोह फैलता है  इनमे से कऑ ऐसे लङके होते हैं जिनके दिमाग  अपने ही देश के खिलाफ गंद भरा जाता है तो कुछ ऐसे भी होते है जिन्हे धमकी देकर जबरदस्ती आतंकवादी बने पर मजबूर किया जाता है। लेकिन कहते हैं जिंदगी कभी एक सी नही होती कभी न कभी तो हालत बदलते हैं। और वही बदलाव इन दिनों कश्मीर घाटी में देखने को भिल रहा है। जहाँ दो आतंकवादियो के अपनी माँ की पुकार पर सरेंडर कर रहे हैं आतंवादी.  लोगों में अपशे बच्चों को वापस पाने की उम्मीद फिर से जगी  है।

और इस मुहिम में कश्मीर की पुलिस और वहाँ तैनात सैना पूरा सहयोग कर रही है ।

माँ की पुकार पर सरेंडर कर रहे हैं आतंवादी

माँ की पुकार पर सरेंडर कर रहे हैं आतंवादी – लौट रहे हैं जबरन आतंकी बने कश्मीरी लङके

जिसके लिए 14411 हेल्पलाइन नंबर जारी की गई है ।जिसकी मदद से जबरन आंतकवादी पाए लङके घर वापिस लौट सकते हैं। आंतकी बने माजिद के घर वापसी के बाद घाटी के दूसरे परिवारों का कहना है कि अगर माजिद घर वापस लौट सकता है तो उनका बेटा क्यों नही । इन आतंकवादियो की मांए अपने आंतकी बने बेटे से गुहार लगा रही है कि वो घर वापस लौट आए ।

माँ की पुकार पर सरेंडर कर रहे हैं आतंवादी – मांओ की पुकार वाले वीडियो व्हाटसएअप पर वायरल

इन्ही में से एक आतंकी सज्जाद की मां । सज्जाद 6 भाई बहनो में अकेले भाई थे। सज्डाद की दो बहनो की शादी हो चुकी है और उनकी पत्नी ने हाल ही में बच्चे को जन्म दिया है । सज्जाद के पिता हमेशा बिमार सी रहते है सज्जाद की मां का कहना है कि  सज्जाद उनके लिए नही आना चाहता है कोई बात नही लेकिन अपने बच्चे के लिए घर लौट आए । जिसने अभी तक अपने पिता की शक्ल तक नही देखी ।आपको बता दे सज्जाद उस दिन हे घर नही लौटा जब वो अपने  घर से अपनी कपङो की दुकान खे लिए निकला था । सज्जाद की मां की तरह घाटी की दूसरी मांए भी रो रो कर अपने बेटों से घर वापस लौटने की गुहार लगा रही है। इन मांओ के वीडियो व्हाटसएअप पर तेजी से वायरल हो रहे हैं।

सेना ने जारी किया हेल्पलाइन नंबर

सीआरपीएफ के आईजी जुल्फिकार हसन के अनुसार जबरन आतंकी बने लङको को वापस  लाने के लिए वो पूरी को कोशिश कर रहे हैं। घर किसी को वापस लौटने में दिक्कत हो रही है तो वो उनकी हेल्पलाइन नंबर 14411 पर मदद मांग सकता । इन आंतकियों के सरेंडर के बा इन्हे पूर्नवास में रखा जाएगा । जहां इनकी मदद की जाएगी। हालांकि आतंकी संगठनो ने ऐलान किया है कि अब कोई आतंकी वापस नही जाएगा । क्योंकि उनका कहना है कि ये खुद अपनी मर्जी से कश्मीर को आजाद करने के लिए संगठन में शामिल हुए थे।

खैर दो आतंकियों के सरेंडर करने से कश्मीर घाटी के लोगो में उम्मीद तो जगने  लगी है कि उनके बच्चे आतंक के गलत रास्ते सा वापस लौटकर आ सकते हैं। और जन्नत कही जाने वाली ये जगह कभी तो सच में जन्नत बनेगी ।

Don't Miss! random posts ..