ENG | HINDI

महिलाओं की इज्‍जत को तार-तार करते हैं ये फतवे, सुनने में ही जान निकल जाएगी

फतवा

फतवा – आपने कई बार मुस्लिम संगठनों द्वारा जारी किए गए फतवों के बारे में सुना ही होगा। कहा जाता है कि ये फतवे बहुत खौफनाक होते हैं। आज हम आपको दुनियाभर के कुछ ऐसे अजीबोगरीब फतवों के बारे में बताएंगें जिनके बारे में सुनकर आप हैरान रह जाएंगें।

इन फतवों के बारे में जानकर आप भी यही सोचने लगेंगें कि क्‍या इन मुस्लिम हुक्‍मरानो ने महिलाओं को अपने हाथों की कठपुतली मान रखा है। आज हर देश में सरकार महिलाओं के सशक्‍तिकरण की बात करती है लेकिन समाज का कुछ हिस्‍सा ऐसा है जो महिलाओं को दबाना चाहता है। महिलाओं पर ही बंदिशें लगाने के लिए धर्म के नाम पर फतवे जारी कर दिए जाते हैं।

आइए जानते हैं महिलाओं के लिए जारी किए गए अजीबोगरीब फतवों के बारे में :

ऑफिस में मर्दों के साथ कुछ ऐसा करें

मिस्‍त्र की अल अजहर यूनिवर्सिटी के डिपार्टमेंट ऑफ हदीस के प्रमुख ने साल 2007 में ऑफिस में काम करने वाली महिलाओं के लिए एक फतवा जारी किया था। उनका कहना है कि महिलाओं को अपने मेल कलीग्‍स को अपना दूध पिलाना चाहिए। इस वाहियात फतवे के अनुसार महिलाओं को कम से कम पांच बार अपना दूध पिलाना चाहिए।

इन जनाब का मानना था कि अगर ऑफिस में महिलाएं ऐसा करती हैं तो उनके बीच मां-बेटे का रिश्‍ता बन जाएगा और इस तरह वो शारीरिक संबंध से दूर रहेंगें।

मरने के बाद हार्थ गर्भवती

मुकाहिद सिहाद हाल ने इस्‍तांबुल में ये फतवा जारी किया था कि जो आदमी अश्‍लील काम करता है उसके मरने के बाद उसका हाथ गर्भवती हो जाता है और वो अपने अधिकारों की मांग करने लगता है। ऐसे में उनके द्वारा जारी किए गए फतवे का सोशल मीडिया पर खूब मज़ाक उड़ा था।

केले और खीरे से दूर रहें महिलाएं

आपको जानकर हैरानी होगी कि इंग्‍लैंड में भी फतवे जारी होते हैं। यहां औरतों को केला और खीरा ना छूने की सलाह दी गई। यहां के मौलाना का मानना था कि इन चीजों को छूने से महिलाओं के मन में गंदे विचार आते हैं इसलिए महिलाओं को इन्‍हें टुकडों में कटवाकर ही लेना चाहिए।

बफे का खाना ना छुएं

इस्‍लामिक देश सऊदी अरब में स्‍टैंडिंग कमेटी ऑफ काउंसिल ऑफ सीनियर स्‍कॉलर्स, शेख सलेह बिन अब्‍दुल्‍ल अल फावजान ने कहा था कि रेस्‍टोरेंट में बफे का खाना महिलाओं के लिए हराम होता है। इसमें खाने की क्‍वालिटी का पता नहीं चलता है इसलिए इसे बैन कर देना चाहिए।

इस्‍लाम में नहीं है समोसा

समोसे को भारत का सबसे पुराना स्‍नैक्‍स माना जाता है। सोमालिया में समोसे को बैन कर दिया था। साल 2011 में सोमालिया में कब्‍जा करने वाले आतंकी संगठन अल शबाब ने सबके पसंदीदा स्‍नैक्‍स समोसे के खिलाफ बचकाना फतवा जारी किया था। इस फतवे के अनुसार इस्‍लाम में समोसा खाना हराम है। अल शबाब ने तीन तरफा समोसा की तुलना ईसाई होली ट्रिनिट्रि के प्रतीक से की थी। अब आप ज़रा खुद ही सोचिए क्‍या सच में ऐसा हो सकता है।

इन फतवों के बारे में जानकर तो ऐसा लगता है कि इनका कोई वजूद नहीं है बस सुर्खियां पाने के लिए इन्‍हें जारी किया गया था।

Don't Miss! random posts ..