ENG | HINDI

नोट बदलने के लिए लाइन में खडी प्रधानमंत्री मोदी की बूढी माँ आपकी आँखें नम कर देगी !

प्रधानमंत्री मोदी की माँ

 

मोदी ने निर्णय लिया कि अब देशभरमें से 500 और 1000 के नोट 8 नवम्बर की रात को बंद हो जायेंगे और तभी जैसे भारत के अंदर कोई आर्थिक तूफ़ान आना शुरू हो गया था.

ख़ुफ़िया एजेंसियों ने पीएम मोदी को बता दिया है कि यदि जल्द कोई ठोस कदम नहीं उठाये तो स्थिति बिगड़ सकती है.

लेकिन सवाल अब यह उठ रहा है कि क्या वाकई भारत के लोग देश से पापियों का नाश करने के लिए थोड़े दिनों की तकलीफ सहन नहीं कर सकते हैं? जिन लोगों के पास काला धन है वह लोग स्थिति को बिगाड़ने की कोशिश कर रहे हैं. जो लोग खुद को गरीब बोलते थे आज वह लोग बैंक लाइन में खड़े पैसे चेंज कराते हुए नजर आ रहे हैं. ईमानदार आदमी को थोड़ी तकलीफ तो जरुर हो रही है किन्तु काले लोगों को सबक सिखाने का इससे अच्छा समय अब कभी नहीं आयेगा.

इसी क्रम में प्रधानमंत्री मोदी की माँ ने भी पैसे चेंज कराने के लिए बैंक तक का कठिन सफ़र तय किया.

आइये आपको आज हम दिखाते हैं कि कैसे माँ हीराबेन ने बैंक आकर ईमानदारी की मिसाल पेश की है-

1. प्रधानमंत्री की माँ हीराबेन भी जब बैंक में अपने 4500 रुपैय लेकर चेंज कराने आई तो यह पल वाकई भावूक करने वाले पल थे.

mother-1

2. सुबह माँ हीराबेन गुजरात (गान्धीनगर) के ओरियंटल बैंक आई और अपने लड़खड़ाते क़दमों के सहारे बेटे मोदी की पहल का तहे दिल से इन्होनें समर्थन किया है.

प्रधानमंत्री मोदी की माँ

3. वह पल देखने वाले थे जब देश के प्रधानमंत्री की माँ हीराबेन ने बकायदा लाइन में खड़े होकर अपनी बारी का इन्तजार किया और बारी आने पर फॉर्म भरकर अपने पैसे को चेंज कराया.

प्रधानमंत्री मोदी की माँ

4. जहाँ देश के बड़े नेता लाइन में खड़े होकर राजनीति कर रहे हैं वहीँ माँ हीराबेन ने साबित किया कि देश की भलाई के लिए वह कुछ भी कर सकती हैं.

प्रधानमंत्री मोदी की माँ

5. दोपहर की गर्मी में माँ हीराबेन बैंक आई थीं और यहाँ लाइन में खड़े होकर इन्होनें अपनी बारी का इन्तजार किया था. माँ हीराबेन को बैंक ने कुछ 10 के नोट, कुछ 100 और 500 व 2000 का नोट चेंज करके दिया है.

प्रधानमंत्री मोदी की माँ

6. नये नोट के साथ नरेन्द्र मोदी की माता जी काफी खुश भी नजर आई थीं. शायद माँ को लगने लगा है कि अब मेरा बेटा देश से वाकई कालाधन खत्म कर देगा.

प्रधानमंत्री मोदी की माँ

तो अब अगर आप अपनी परेशानी को लेकर बैठे हैं तो आज आपको मोदी की माता हीराबेन का भी संघर्ष देखना चाहिए.

प्रधानमंत्री की माँ होने के बाद भी यह देवी लाइन में लगती है और मात्र 4500 रुपैय चेंज करवाती है.

दूसरी तरफ जो लोग देश के लिए मरने-मिटने की बातें किया करते थे वह मात्र कुछ घंटे की बैंक की लाइन में खड़े नहीं हो पा रहे हैं. असल में अभी वक़्त है कि सारा देश मोदी के साथ इस फैसले में खड़ा रहे और यह देखे कि तब कैसे-कैसे लोग अपने काले धन में आग लगाते हैं.

माँ हीराबेन की यह तस्वीरें वाकई आज पूरे देश की आँखों को नम कर चुकी हैं.

Don't Miss! random posts ..