ENG | HINDI

जानिये कौन है मोदी के वो 9 अफसर जो मीडिया से बचते है

मोदी के अफसर

मोदी के अफसर – प्रधानमंत्री मोदी कितने वर्कहॉलिक है इस बात के चर्चे भारत ही नहीं बल्कि देशों-विदेशों में भी किये जाते है।

वह अपने हर काम को लेकर बेहद सजग रहते है। वह जहां भी चले जाये चाहे वह देश हो या विदेश हर जगह सिर्फ मोदी, उनके भाषण और उनके काम का ही जिक्र होता है। लेकिन ये बात बहुत कम लोग जानते है कि उनके इस जज्बें के पीछे उनके अकेले की मेहनत नहीं है बल्कि इसके बीचे उनके नौ अनमोल रत्न भी है।

इनके काम को देखते हुए यह कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा कि मोदी के सपनों को पूरा करने की जिम्मेदारी इन नौ नौकरशाहों ने अपने सर ले रखी है।

मोदी के अफसर –

प्रधानमंत्री मोदी के इन नवरत्नों में सबसे पहला नाम अजीत डोभाल का आता है। अजीत डोभाल भारत सरकार के रक्षामंत्री होने के साथ साथ मोदी के बेहद करीबी माने जाते है। अजीत डोभाल को भारत का जेम्स बॉन्ड भी कहा जाता है। खबरों की  माने तो इन्हें पाकिस्तान पर हुई सर्जिकल स्ट्राइक  का मास्टर माइंड भी कहा जाता है। यहां तक कि प्रधानमंत्री मोदी सुरक्षा के सभी प्रमुख फैसले अजीत डोभाल पर ही  छोड़ देते हैं।

पीएम मोदी की इस लिस्ट में अगला नाम है नृपेंद्र मिश्र का। मोदी की एडमिनिस्ट्रेटिव कमेटी की देखभाल की पूरी कमान यही संभालते है। मोदी के सपनों को जनता के सपनों से जोड़ने का पूरा दारोमदार इन्ही के ऊपर है।

मोदी की इस लिस्ट में अगला नाम पी. के. मिश्रा है। पी. के. मिश्रा मोदी कैबिनेट मे एडिशनल प्रिंसिपल सेक्रेटरी है। मोदी सरकार के हर एक कार्यकर्ता का चयन यही करते है। कई लोग तो इन्हें मोदी मंत्रालय का HR भी कहते हैं।

मोदी के अफसर

मोदी की इस खास लिस्ट में चौथा नाम है प्रदीप कुमार सिन्हा। ये मोदी सरकार के कैबिनेट सेक्रेटरी है। खबरों की मानें तो GST के पीछे का सारा दिमाग इन्हीं का है। साथ ही GST को जनता को समझने की जिम्मेदारी भी इन्हीं को दी गई है।

मोदी के अफसर

मोदी के पांचवें अनमोल रत्न है शक्तिकांत मिश्रा। ये मोदी सरकार के इकोनॉमिक अफेयर्स सेक्रेटरी है। आप सभी को नोटबंदी का दौर तो याद ही होगा। खैर ये बड़ा अजीब सवाल है, क्योकि आप या हम नोटबंदी के दौर को चाह कर भी कभी नहीं भूल सकते। इसी के साथ वो बात भी नहीं भूल सकते जिसमें नोटबंदी के दौरान हर सुबह शाम नियमों में बदलाव की खबरें सुर्खियों में छायी रहती थी। शक्तिकांत मिश्रा वहीं चेहरा है जो नोटबंदी के दौरान जब-जब खबरों में आता तब-तब जनता पर सरकार की मार पड़ती। इसके अलावा शक्तिकांत मिश्रा मोदी सरकार के विदेशी इकोनॉमिक आकड़ों का भी ध्यान रखते है।

इस लिस्ट में अगला नाम है एस. जयशकंर का, जिन पर सरकार की विदेश नितियों का दारोमदार है। ये भारत सरकार के सबसे जरूरी अफसरों में गिने जाते है। इनके लिए इनके काम से बढ़कर कुछ भी नहीं होता।

मोदी के अफसर

मोदी की अफसर लिस्ट में सातवें नबंर पर है अभिताभ कांत जोकि निति आयोग और भीम एप के सभी कार्यों और नियमों के कर्ताधर्ता कहे जाते है।

आठवें स्थान पर है हंसमुख अधिया, जोकि केन्द्र सरकार के रेवेन्यू सेक्रेटरी है। इसके अलावा ये बेहद चौका देने वाली बात है कि प्रधानमंत्री मोंदी के अलावा नोटबंदी की अगर किसी को पूरी जानकारी थी, तो वो थे हंसमुख अधिया।

मोदी के अफसर

मोदी सरकार के नौवें अनमोल रत्न भास्कर खुल्बे है। जिनका काम राजनिती की दुनिया में मील का पत्थर कहा जा सकता है। इनका काम है पार्टी के लिए ईमानदार अफसरों की खोज करना व साथ ही पार्टी अफसरशाहों में ईमानदार नेताओं को बहाल करने की।

मोदी के अफसर

ये है मोदी के अफसर – मोदी सरकार के इन नवरत्नों के चेहरे या तो खबरों में आते नही, और जब-जब आते है, तब-तब मोदी का कोई ना कोई नया फरमान ही लाते है

Don't Miss! random posts ..