ENG | HINDI

अब अपने आप ठीक हो जाएंगे टूटे हुए मोबाइल डिस्प्ले

मोबाइल डिस्प्ले

मोबाइल डिस्प्ले टूटने का दुख सबसे ज्‍यादा होता है क्‍योंकि इसे ठीक करवाने में खर्चा भी ज्‍यादा आता है और अगर इसे ठीक ना करवाया जाए पब्लिक में फोन बाहर निकालने में शर्म भी आती है।

आमतौर पर ऐसे कम ही लोग होते हैं जिनका फोन कभी जमीन पर ना गिरा हो वरना हम जैसे लोगों का तो फोन दिन में दो बार गिर ही जाता है और ऐसे में मोबाइल डिस्प्ले टूटने का खतरा सबसे ज्‍यादा रहता है। मोबाइल डिस्प्ले ठीक करवाने में आजकल बहुत ज्‍यादा खर्चा आता है। अगर आप ओरिजनल डिस्‍प्‍ले लगवा रहे हैं तो इसके लिए आपको ज्‍यादा कीमत चुकानी पड़ती है लेकिन अब इस मुश्किल का हल शोधकर्ताओं ने खोज लिया है।

जापान के शोधकर्ताओं ने एक तरह का नया ग्‍लास बनाया है जो टूटने, फूटने या खराब हो जाने पर अपने आप ही ठीक हो जाता है। इस खोज के बाद से लंबे समय तक चलने वाले ग्‍लास आसानी से मिलने की उम्‍मीद की जा रही है। इससे ना सिर्फ मोबाइल या लैप्‍टॉप बल्कि टीवी, खिड़की, फिश टैंक आदि के लिए भी लंबे समय तक चलने वाले ग्‍लास बनाए जा सकेंगें।

ये आश्‍चर्यजनक खोज यूनिवर्सिटी ऑफ टोक्‍यो में केमिस्‍ट्री रिसर्चर यू यानागिसावा ने की है। इस खोज के बारे में सुनकर मन में सबसे पहले यही सवाल आता है कि क्‍या टूट हुए ग्‍लास अपने आप ठीक हो सकते हैं, क्‍या ऐसा सच में सभव है ?

दरअसल, ये पूरी तरह से सच नहीं है। हालांकि इस खोज के बाद शोधकर्ताओं के लिए हल्‍के, टिकाऊ और कांच के लंबे समय तक चलने वाले प्रॉडक्‍ट्स बनाने की दिशा में कदम बढ़ाना आसान हो जाएगा।

यानागिसावा ने एएफपी को दिए एक डेमा में एक ग्‍लास के दो टुकड़े कर दिए। इसके बाद उन्‍होंने दोनों टुकड़ों को लगभग 30 सेकेंड तक जोड़े रखा, जिससे वे दोनों अपनी पूर्व अवस्‍था में आ गए। इसकी मजबूती भी पहले जैसी ही रही।

आपको शायद मालूम नहीं होगा कि ओरिजनल ग्‍लास पॉलिथर थायॉरियस का बना होता है जोकि मिनरल ग्‍लास के काफी करीब है। इसे स्‍मार्टफोन की स्‍क्रीन में इस्‍तेमाल किया जाता है। इसमें मौजूद थायरिया हाइड्रोन बॉन्डिंग का इस्‍तेमाल करके टूटे हुए टुकड़ों को फिर से जोड़ने में मदद करता है।

अगर ये नई खोज मार्केट में आ जाती है तो इससे काफी लोगों को फायदा होगा क्‍योंकि आए दिन हज़ारों लोगों की फोन की स्‍क्रीन टूटती होगी। हालांकि, अभी तक ये पता नहीं चल पाया है कि ग्‍लास के टूटकर दोबारा जुड़ने की ये तकनीक सबसे पहले कौन सी स्‍मार्टफोन कंपनी ईजाद करेगी।

अभी तक किसी भी फोन में ये सर्विस उपलब्‍ध नहीं है लेकिन ये बात तो पक्‍की है कि जिसने भी पहले इसे ईजाद किया उस कंपनी के फोन सबसे ज्‍यादा बिकेंगें। ये नई सुविधा सौ प्रतिशत स्‍मार्टफोन यूज़र्स को अपनी ओर आकर्षित करेगी और कंपनी की सेल्‍स काफी बढ़ जाएगी।

फिलहाल अब तक ये पता नहीं चल पाया है कि मोबाइल डिस्प्ले ग्‍लास की ये फैसिलिटी कब से आना शुरु होगी। इसका सभी स्‍मार्टफोन यूज़र्स को बेसब्री से इंतज़ार रहेगा। क्‍या पता  नए साल में ही स्‍मार्टफोन ग्राहकों को ये नई सौगात दे दें।

Don't Miss! random posts ..