ENG | HINDI

ये 10 धांसू डायलॉग्स, जो साबित करते हैं आप कनपुरिया हैं

कनपुरिया

कनपुरिया – हमारा देश विविधता में एकता का देश है. यहां हर राज्य की एक अलग ही बोली और भाषा है. वैसे ही राज्यों के अंदर बसे हुए छोटे-छोटे शहरों की भी बोली-भाषा अलग-अलग है.

अगर आपके समाने कोई कहें कि यार टोपा हो क्या बिल्कुल एकदम, काहे खींसे बघारे रहे हो, इतनी तेज कंटाप मारेंगे जैसे वाक्यों का इस्तेमाल करे तो जनाब समझ जाइएगा कि वो शख्स कानपुर से बिलॉन्ग करता है. क्योंकि इन वाक्यों में आने वाले शब्दों  को समझना आपके लिये कठिन हो सकता है. पर शायद अब नहीं, क्योंकि इन दिनो यूट्यूब पर आने वाले “मेक जोक ऑफ” के वीडियो देखकर आप काफी कुछ समझ गये होंगे. और इन वाक्यों से काफी परिचित भी हो गये होंगे.

‘मेक जोक ऑफ’ को बनाने वाले लोग ठेठ कनपुरिया हैं और वे कनपुरिया भाषा में ही सामाजिक मुद्दों पर तंज कसते हैं.

ताकि दर्शक मजे भी ले सकें और मुद्दों को समझ भी सकें. इस चैनल को 1 अगस्त से पूरा 1 साल हो गया है. लेकिन इस चैनल के हर वीडियो को लाखों में व्यूज मिलते हैं. अभी तक चैनल के 3,546,165 सब्सक्राइबर्स हैं. मगर उनके हर वीडियों को लगभग 50 लाख लोग देखते हैं.

आपको जानकर हैरानी होगी कि ‘’मेक जोक ऑफ” के इतने कम वीडियो होने के बाद भी इन्हे हर जगह पसंद किया जा रहा है. ‘मेक ऑफ जोक’ का कन्टेंट कानपुर के लोगों पर ही आधारित है. इनके वीडियोज़ में कनपुरिया स्टाइल की लड़ाई, उनकी बातचीत का तरीका, उनकी ठेठ भाषा आज पूरे देश में चर्चा का विषय बन गई है. ‘मेक ऑफ जोक’ का सबसे पॉपुलर वीडियो बना है दीपावली में आया ‘चाचा के पटाखे’ वाला वीडियो जिसे केवल 7 दिन के अंदर ही 67,65,412 से ज्यादा लोगों ने देखा था. इसलिये आज हम MJO की एनीवर्सरी पर आपको कुछ वीडियो के चुनिंदा डायलॉग्स और उनसे जु़ड़ें किस्सों के बारे में बताने जा रहे हैं.

१ – चाचा बहुत चौड़िया रहे हो

दीपावली पर ‘मेक जोक ऑफ’ ने ‘चाचा के पटाखे’ वीडियो में इस डायलॉग को इस्तेमाल किया था. इस में गली के लड़के चाचा के पास आते हैं और ये डायलॉग बोलते हैं इसका मतलब है कि चाचा ज्यादा स्मार्ट बन रहे हो.

2 – रिश्ता विश्ता हमको कछु नहीं चलाना है

इस वीडियो में एक आदमी अपने रिश्तेदार से रिश्ता न चलाने की बात करता है.

३ – सब समाना बिखरा पड़ा है, कमला पसंद थुका पड़ा है

ये वीडियो है ‘गुरु जी दरवाजा खोल दें’ वाला जिसमें चेला पूछता है तो गुरु जी गुस्से में ये डायलॉग मारते हैं. आपको बता दें कि कानपुर में सबसे ज्यादा गुटखा खाया जाता है. इस लिये इस वीडियो में तंज कसा गया है.

कनपुरिया

४ – तुम लोगों के हम इतनी तेज कंटाप मारेंगे, गाल में छेद हो जाएगा

इस ये वीडियो है डॉक्टर क्लीनिक का, जहां पर ये डायलॉग बोला गया है. इस डायलॉग में कंटाप का मतलब है थप्पड़ मारना.

कनपुरिया

५ – काहे मरे जा रहे हो

अगर आपका कोई दोस्त या रिश्तेदार कानपुर से हो और आप उसके सामने ज्यादा उतावले दिख रहे हो तो वो ये डायलॉग बोले बिना नहीं रह पाएगा.

कनपुरिया

६ – जो आदमी दिमाग से पैदल, बुद्धि से गधा और अक्सल से बैल होता है औउ को हम कहते हैं टोपा

अब पता चल गया होगा टोपा का मतलब विस्तार से.

कनपुरिया

७ – काहे खीसें बघार रहे हो…

जब कोई बिना बात के हंसता है तो अक्सर कानपुर के लोग यही बात बोलते हैं.

कनपुरिया

८ – मर रही हो तो मरने दो….चले आ रहे पंडित जी पैडल मारते… चोटी हिलाते…

अकसर कानपुर की बीवियां अपने पति के लिये यही बोलती हैं.

कनपुरिया

९ – अबकी बार फिसली (जुबान) तो निकाल के बाहर फेंक देंगे कूडें में

ये वीडियो है ‘शर्मा जी के दोस्त वाला’ जिसमें शर्मा जी का दोस्त बिन बुलाए चला आता है.

कनपुरिया

१० – ऐसा है इतना फेको जितना चल जाए… इतना ना फेको की उड़े लगे…

मेक जोक ऑफ का ‘न्यू ईयर’ वीडियो में लाल जी कहते हैं कि उतना ही झूठ बोलो जितना चल जाए.

कनपुरिया

ये है कनपुरिया भाषा –  तो दोस्तों अब आप जब भी कानपुर आएं तो ये डायलॉग्स बोलकर इंप्रेशन जमा दीजिएगा. और अगर आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया हो तो नीचे दिये गए कमेंट बॉक्स में हमें जरुर बताएगा और शेयर कीजिएगा.

Don't Miss! random posts ..