ENG | HINDI

जानिए, इंग्लिश बोलने वाली लड़कियों से क्यों दूर भागते हैं लड़के !

इंग्लिश बोलने वाली लडकियाँ

इंग्लिश बोलने वाली लडकियाँ – आज का युग इतना एडवांस हो चुका है कि शहर हो या फिर गांव इंग्लिश में बात करना अब न सिर्फ ट्रेंड है बल्कि ये लोगों की आवश्यकता भी बन चुकी है.

अगर आप कहीं इंटरव्यू देने जाते हैं या किसी से पहली बार बात कर रहे होते हैं या फिर कहीं 10 लोगों के साथ में बैठे हैं तो आपकी योग्यता और इंटेलीजेंसी को अंग्रेजी ही तय करती है.

वैसे देखा जाए तो ऐसा होना नहीं चाहिए, लेकिन बदलते समय के साथ चलने के लिए आज इंग्लिश आवश्यक होता जा रहा है. वैसे तो भारत देश की पहली भाषा हिंदी है. बावजूद इसके आधे से ज्यादा लोग अंग्रेजी में बात करते हैं. जो लोग आज के समय में इंग्लिश बोलना नहीं जानते हैं वो खुद को कमजोर और कम पढ़ा लिखा समझने लगते हैं.

एक सच्चाई ये भी है कि भारत देश के लोगों ने भले हीं पश्चिमी सभ्यता के कल्चर को अपनाया हो, भले ही लोगों का पहनावा, खानपान, अंग्रेजी बोलने की आदत इत्यादि पश्चिमी देशों से मेल खाती हो, लेकिन आज भी हमारी सोच लगभग 20 साल पुरानी जैसी ही है.

हाल ही में मर्दो पर हुए एक सर्वे में ये बात खुलकर सामने आई कि भारतीय मर्द आज भी सीधी-सादी और घरेलू लड़कियों को हीं ज्यादा पसंद करते हैं. इंग्लिश बोलने वाली लडकियाँ पसंद नहीं करते.

पुरुषों का मानना है कि इंग्लिश बोलने वाली लडकियाँ वैसे तो आत्मनिर्भर होती हैं लेकिन उनमें इगो होता है. वो खुद को दूसरे से कम नहीं समझती हैं. इंग्लिश में बात करने वाली लड़कियां अपने परिवार और पति से ऊपर उठकर चलना चाहती हैं. कुछ पुरुषों का मानना है कि इंग्लिश बोलने वाली महिलाएं बात-बात पर इंग्लिश में गाली भी देती हैं, जो उनकी समझ से बाहर होती है. ज्यादातर लड़के सीधी सादी लड़की से हीं शादी करना पसंद करते हैं. सर्वे में एक और दूसरी बात सामने आई है कि सिर्फ ऐसे लड़के हीं इंग्लिश बोलने वाली लडकियाँ पसंद करते हैं जिन्हें खुद अंग्रेजी बोलनी आती है.

लड़कियों के लिए ये सर्वे अच्छी खबर लेकर आया है, जो अंग्रेजी में बात करना नहीं जानती हैं.

वैसे उन लड़कियों को भी अपना दिल छोटा नहीं करना चाहिए, जो इंग्लिश में बात करती हैं, क्योंकि हो सकता है कि सर्वे में जिन लड़कों को शामिल किया गया था, उसमें वो लड़के ना हो जो उनके लिए परफेक्ट हो.

Don't Miss! random posts ..