ENG | HINDI

15 अगस्त को राष्ट्रगान का विरोध करने वाले मौलाना को मिली ये सजा, देखे पूरी वीडियो

राष्ट्रगान का विरोध

राष्ट्रगान का विरोध – दोस्तों आज हम आपके लिए एक ऐसा वीडियो लाए हैं जो स्वतंत्रता दिवस से सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है.

यह वीडियो फेसबुक पर ही नहीं बल्कि इंस्टाग्राम और ट्विटर तक पर लोगों द्वारा खूब शेयर किया जा रहा है. इस वीडियो को देख कर ये साफ पता चल रहा है की एक मौलाना लगातार हमारे देश के राष्ट्रगान का विरोध कर रहा है और साथ ही दूसरे छात्रों को भी इसे गाने से मना कर रहा है. मौलाना का ऐसा विरोध देख अन्य अध्यापक उसकी इस बात का विरोश करते जरूर नजर आए लेकिन फिर भी मौलाना पर इतने लोगों के विरोध का भी कोई असर नहीं हुआ.

मौलाना लगातार हमारे राष्ट्रगान का विरोध और अपमान करता रहा और उसे गाने से मना करता रहा.

राष्ट्रगान का विरोध

मौलाना छात्रों को ये सीख देते हुए कहता नजर आ रहा है की राष्ट्रगान इस्लाम में गाना गलत है क्योंकि इसकी हमारे धर्म में मनाही है. लेकिन अन्य मुस्लिम अध्यापक इस बात का खंडन करते हुए कहते हैं की उन्हें दीन इस्लाम के बारे में ना बताए क्योँकि इस्लाम में कही पर भी राष्ट्रगान गाने की मनाही नहीं है. जिससे ये साफ जाहिर होता है की मौलाना खुद तो गलत कर ही रहा है साथ ही छात्रों को भी गलत सीख दे रहा है.

भले ही यह गलती किसी एक नी कि हो लेकिन फिर भी ना जाने क्यों हमारे देश में सजा और बदनाम पूरे मजहब को सहनी पड़ती है. कुछ ऐसा ही इस विरोध के बाद भी देखने को मिला. इस वीडियो के वायरल होते ही पूरा मुस्लिम धर्म निशाने पर आ गया. इस बात का सबूत देती है फेसबूक और ट्विटर का कमेंटबॉक्स, जहां पर अन्य धर्म के लोग एक बददिमाग मौलाना की वजह से पूरे मुस्लिम धर्म को गाली देने लगे और उन्हें देश निकाला तक की बात करने लगे. बता दे की यह घटना उत्तर प्रदेश के एक मदरसे की है, जिसमें मोहम्मद अंसारी नाम का मौलाना बच्चों को पढाता है. मौलाना ने 15 अगस्त को खुद मदरसे में तिरंगा झंडा फहराया लेकिन उसके बाद इस जिद पर अड़ गया कि उसने राष्ट्रगान का विरोध किया. वह ना तो खुद राष्ट्रगान गाएगा और ना ही वहाँ मौजूद किसी भी छात्र को गाने देगा, क्योंकि उसके अनुसार इस्लाम में राष्ट्रगान गाने की मनाही है.

यह सजा मिली मौलाना को

यह बात सोशल मीडिया के जरिए इतनी ज्यादा बढ़ गई की किसी ने मौलाना के खिलाफ पुलिस में शिकायत तक दर्ज करा दी. इसके बाद पुलिस ने तुरंत वायरल हुई वीडीयो के जरिए मौलाना के खिलाफ एक्शन लिया. उत्तर प्रदेश पुलिस ने मौलाना और उसके साथियों, बता दे की इस विरोध में मौलाना का कुछ अन्य लोगों ने भी साथ दिया था जिन्हें पुलिस ने मौलाना के साथ उसी मदरसे पर धर दबोचा. फिलहाल मौलाना और उसके साथी सलाखों के पीछे हैं और इस मामले की कोर्ट में सुनवाई चल रही है.

क्या आपको नहीं लगता की सोशल मीडिया पर किसी एक व्यक्ति के कारण पूरे धर्म को गाली देना गलत है? और आखिर ऐसे मौलाना को क्या सजा मिलनी चाहिए जिसके कारण उसके धर्म को बदनामी सहनी पड़ी.

 

Don't Miss! random posts ..