ENG | HINDI

क्या आप चाहते हैं अपनी राशि के अनुसार ‘धन प्राप्ति का मन्त्र’ जानना?

astral-horoscope

ज्योतिष की दुनिया में इंसान की हर परेशानी का हल मौजूद है.

अगर बात करें धन की तो ज्योतिष में कहा गया है कि हर राशि का एक स्वामी ग्रह होता है और उससे निश्चित एक मंत्र रहता है. अगर कोई व्यक्ति उस मंत्र क जप निरंतर करता है तो धन सम्बंधित परेशानियों का अंत हो जाता है.

तो आइये जानते हैं हर राशि का स्वामी ग्रह और धन प्राप्ति का मंत्र-

सभी मंत्र नित्य रोज कम से कम 108 बार जपने जरुरी हैं.

मेष
मेष राशि का स्वामी मंगल ग्रह है. मंगल ग्रह को हनुमान जी से संबंधित बताया जाता है. तो मेष जाति के जातक हनुमान जी की आराधना करते रहें. ॐ हनुमते नमः का जाप नित्य रोज करें.

वृषभ
वृष राशि का स्वामी ग्रह शुक्र माना जाता है. माँ दुर्गा की पूजा करना और ॐ दुर्गादेव्यै नम:  के जाप से वित्तीय समस्याओं का अंत होता है.

मिथुन राशि

मिथुन राशि का स्वामी ग्रह बुध है. भगवान गणेश जी की आराधना इनके लिए शुभ है. ॐ गं गणपते नमः के जाप से नौकरी और व्यवसाय में आ रही परेशानियों का अंत होता है.

कर्क राशि

कर्क राशि का स्वामी चंद्रमा माना जाता है. इस राशि के जातक को भगवान शिव की पूजा करनी चाहिए. मंत्र – ॐ नमः शिवाय मन्त्र का नित्य रोज जाप फलदायक साबित होता है.

सिंह राशि

सिंह राशि का संबंध सूर्य से माना जाता है. तो नित्य रोज भगवान सूर्य की पूजा और मंत्र  ॐ सुर्यायें नमः का जाप करने से इनको लाभ प्राप्त होता है.

कन्या राशि

कन्या राशि का स्वामी बुध ग्रह माना जाता है. इस राशि के जातकों को भगवान गणेश जी की और  ॐ गं गणपते नमः मन्त्र का जाप करना चाहिए.

तुला राशि

तुला राशि का स्वामी ग्रह शुक्र है. इस राशि वालों को देवी लक्ष्मी जी की पूजा और ॐ महा लक्ष्म्यै नमः मंत्र का जाप निरंतर करना चाहिए.

वृश्चिक राशि

इस राशि का भी संबंध मंगल ग्रह से बताया जाता है तो भगवान हनुमान जी की पूजा और  ॐ हं हनुमते नमः मन्त्र के जाप से धन संबंधित पीड़ा का अंत होता है.

धनु राशि

धनु राशि ब्रहस्पति ग्रह से संबंध रखती है.  इसलिए भगवान विष्णु जी की आराधना और  ॐ श्री विष्णवे नमः मंत्र से धन का लाभ होता है.

मकर राशि

मकर राशि का स्वामी शनि है इसलिए शनि या हनुमान जी की पूजा और  ॐ शम् शनिश्चराये नम: मन्त्र का जाप लाभदायक रहता है. हर शनिवार शनि मंदिर में तेल चढ़ाना ना भूलें.

कुंभ राशि

कुंभ का स्वामी शनि है.  शनि के गुरु भगवान शंकर माने जाते हैं. इसलिए इस राशि वालों को शनि के साथ-साथ भगवान शंकर की पूजा करनी चाहिए और  ॐ महामृत्युंजय नमः  तथा ॐ शम् शनिश्चराये नम: मन्त्र का जाप करना चाहिए.

मीन राशि

मीन राशि का स्वामी ब्रहस्पति है. इस राशि वालों को भगवान नारायण का ध्यान और ॐ गुरुवे नमः मन्त्र का जाप करना चाहिए.

तो अब अगर आप भी परेशान हैं तो अपनी राशि के अनुसार शुरू कीजिये अपने मंत्र का जप.

ध्यान दें कि यह मंत्र नित्य्रोज कम से कम 108 बार जरूर जपा जाये. मंत्र जप से पहले स्नान और साफ़ कपड़ों को पहने.

Don't Miss! random posts ..