ENG | HINDI

इन मंत्रों के जप से हनुमान जी अपने भक्तों को प्रदान करते हैं सुरक्षा कवच !

सुरक्षा कवच

सुरक्षा कवच – रामभक्त हनुमान इस कलियुग के एकमात्र ऐसे देवता हैं जो थोड़ी सी भक्ति से ही भक्तों के सारे संकट हर लेते हैं. इसलिए कहा जाता है कि जो भी भक्त हनुमान जी का नाम जपता है उसे कभी अपने जीवन में किसी पीड़ा का सामना नहीं करना पड़ता है.

चाहे शत्रुओं का संकट हो या फिर कोई किसी रोग से ही पीड़ित क्यों ना हो. हनुमान जी के नाम का जप करने मात्र से ही बड़े से बड़ा संकट दूर हो जाता है.

वैसे हमारे देश में अधिकांश लोग हनुमान जी की पूजा-अर्चना करते हैं. लेकिन आज हम आपको बताने जा रहे हैं हनुमान जी के कुछ खास मंत्र जिनकों जपनेवाले भक्तों को स्वयं हनुमान जी सुरक्षा कवच प्रदान करते हैं.

महामंत्रों के जप से होते हैं ये फायदे

हिंदू धर्म के शास्त्रों में भी हनुमान जी के महामंत्रों के जप करने के कई लाभ बताए गए हैं. सच्चे मन से इन महामत्रों का जप करनेवाले भक्तों को बुरी शक्तियां कभी अपना शिकार नहीं बना सकती हैं.

हनुमान जी के मंत्रों का जप करने से व्यक्ति के ऊपर टोना, टोटका, काले जादू का असर भी नहीं होता. अगर कोई काला जादू करने की कोशिश भी करता है तो हनुमान जी उसे दंड देते हैं.

1- व्यक्तिगत सुरक्षाके लिए

मंत्र- ‘ॐ श्री हनुमते नम:’

सच्चे मन से रुद्राक्ष की माला से हनुमान जी के इस महामंत्र का कम से कम एक माला जप करना चाहिए. हनुमान जी का यह मंत्र 24 घंटे के लिए भक्त के आसपास सुरक्षा कवच बनाए रखता है.

अगर जप की माला बढ़ा दी जाए यानी एक माला से अधिक जप किया जाए तो यह रक्षा कवच 24 घंटे से भी ज्यादा समय के लिए असरदार रहता है.

2- आर्थिक मजबूती के लिए

मंत्र- ‘ॐ नमो हनुमते आवेशाय आवेशाय स्वाहा’

इस मंत्र का हर रोज कम से कम एक माला जप जरूर करना चाहिए. ऐसा करने से 45 दिनों के भीतर ही सकारात्मक परिणाम दिखने लगेंगे और आर्थिक परेशानियों दूर होने लगेंगी.

3- इच्छाओं की पूर्ति के लिए

मंत्र- ‘महाबलाय वीराय चिरंजिवीन उद्दते, हारिणे वज्र देहाय चोलंग्घितमहाव्यये’

अगर आपके मन में किसी चीज को पाने की अभिलाषा है तो अपनी मनोकामना की पूर्ति के लिए इस मंत्र की कम से कम एक माला हर रोज जपनी चाहिए.

4- संकटों से मुक्ति के लिए

मंत्र- ‘ॐ नमो हनुमते रुद्रावताराय सर्व-शत्रु-संहारणाय, सर्व-रोग-हराय, सर्व-वशीकरणाय, राम-दूताय स्वाहा’

अगर आपको अपने जीवन में किसी भी संकट का आभास हो तो इस मंत्र का जप करना आपके लिए काफी फायदेमंद रहेगा. हनुमान जी का यह महामंत्र ना सिर्फ शत्रुओं से आपकी रक्षा करेगा बल्कि उनपर आप विजय भी पा सकेंगे.

महामंत्रों के जप करने की विधि

हनुमान जी के इन महामंत्रों का पूरा लाभ उठाने के लिए जरूरी है कि नियमपूर्वक विधि-विधान से इन मंत्रों का जप किया जाए.

इसके लिए सुबह उठकर स्नान करने के बाद आसन लगाकर हनुमान जी की मूर्ति या तस्वीर के सामने बैठ जाएं.पूजा आरंभ करने से पहले भागवान श्रीराम को प्रणाम करते हुए उनका आशीर्वाद लें. फिर हनुमान जी को चोला, सिंदूर और जनेऊ अर्पित करते करें और फिर इन मंत्रों का जप आरंभ करें.

गौरतलब है कि हनुमान जी के इन मंत्रों का अगर आप पूरी श्रद्धा और विश्वास के साथ नियमित रुप से जप करेंगे तो हनुमान जी सुरक्षा कवच बनकर आपकी सभी संकटों से रक्षा करेंगे.

Don't Miss! random posts ..