ENG | HINDI

पीएम मोदी के इस आइडिये के राहुल गांधी भी हुए मुरीद !

मेक इन इडिया

मेक इन इडिया – कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी अमेरिकी दौरे पर गए थे।

इस दौरान  उन्हों नें प्रिन्सटन यूनिवर्सिटी के छात्रों से मुलाकात की जहां पर उन्हों ने देश के प्रधानमत्री नरेंद्र मोदी के मेक इन इंडिया के आइडिया की सराहना की।

अपनी राय प्रकट करते हुए राहुल ने कहा कि मेक इन इडिया एक ऐसा प्रोजेक्ट है जिसकी वे चाह करते हैं कि क्रांगेस के पास भी होता। उन्‍होंने कहा कि मोदी के इस मेक इन इंडिया प्रोजेक्ट में कुछ कमियां भी हैं जिसे लागू करने से पहले बदलाव की जरूरत है क्योंकि इस पॉलिसी में छोटे उद्योगों को फायदा नहीं मिल रहा है, बल्कि बड़े उद्योगों पर ज्यादा ध्यान केंद्रित किया गया है।

राहुल ने कहा देश में बेरोज़गारी बढ रही है और मोदी सरकार रोज़गार देने में उतनी सक्षम नहीं हो पा रही है। जितनी नौकरियां पैदा होनी चाहिए थी उतनी नहीं हुई हैं । आज नौकरी सबसे विशेष और चुनौतीभरा मुद्दा है।  

एक अनुमान के अनुसार 30000 युवक बेरोजगार हैं और सिर्फ 400 नौकरियां पैदा हो पा रही हैं। दुनियाभर के देशों के साथ कदम से कदम मिलाने के लिए भारत सरकार को देश में ज्यादा से ज्यादा रोजगार मुहैया कराना चाहिए जिससे बेरोजगारी मिट सके।

भारत में बेरोजगारी  ख़त्म कर पाने पर राहुल ने भाजपा के साथ-साथ क्रांगेस को भी दोषी ठहराया। राहुल ने यहां तक कहा कि जो जनता हमसे नाराज़ थी कि हम पर्याप्त रोजगार पैदा नही कर सके वही आज मोदी से भी नाराज है कि मोदी सरकार भी इसमें असफल हो गई। यह एक केंद्रीय मुद्दा बन चुका है। यह एक चुनौती है कि इस समस्या को लोकतांत्रिक तरीके से कैसे निपटाया जाए। फिलहाल ये कार्य दोनों पार्टियां नही कर पाई हैं।

भारत के राजनीतिक मामलों पर राहुल ने कहा कि राजनीतिक प्रणाली का केंद्रीकरण आज के समय में भारत की केंद्रीय समस्‍या है।

सांसद, विधायकों और प्रधानों को अपनी जिम्‍मेंदारी समझकर अच्‍छे से काम करना चाहिए और ये भी कहा कि कानून निर्माण की प्रकिया को और पारदर्शी बनाने की आवश्‍यकता  है।

Don't Miss! random posts ..