ENG | HINDI

किसी का बेस्ट फ्रेंड बनने में लगते हैं 200 घंटे

पक्का दोस्त

पक्का दोस्त – दोस्‍ती एक ऐसा रिश्‍ता है जो खून का नहीं बल्कि दिल का होता है।

एक बार किसी से दोस्‍ती हो जाए तो जीवनभर का साथ हो जाता है। हालांकि, आप किसी को अपना दोस्‍त बनने के लिए मजबूत तो नहीं कर सकते लेकिन अगर आप किसी को अपना बहुत अच्‍छा दोस्‍त बनाना चाहते हैं तो उसके साथ कुछ समय बिताएं। किसी को अपना पक्का दोस्त बनाने का ये सबसे बढिया तरीका है।

जर्नल ऑफ सोशन एंड पर्सनल रिलेशनशिप में प्रकाशित एक रिपोर्ट में ये बात बताई गई है कि कोई व्‍यक्‍ति पक्का दोस्त बनने में कितना समय लेता है और हर स्‍तर पर दोस्‍त बनाने का तरीका बहुत अलग है।

इस स्‍टडी के पहले भाग में 355 प्रतिभागियों पर रिसर्च की गई जोकि 6 महीने पहले ही नए शहर में आए थे और नए दोस्‍त बनाना चाहते थे।

उन्‍हें उन लोगों के बारे में सोचने के लिए कहा गया जिन्‍हें वो प्रवास करते समय मिले थे और कैसे उनके बीच दोस्‍ती शुरु हुई। देखा गया कि वो कैसे उनके करीब गए और उनके साथ उन्‍होंने कितने घंटे बिताए। इस दोस्‍ती को कई भागों में बांटा गया जैसे सामान्‍य दोस्‍त, दोस्‍त और पक्का दोस्त।

स्‍टडी के दूसरे भाग में 112 नए छात्रों से उन लोगों के बारे में सोचने के लिए कहा गया जिन्‍हें वो स्‍कूल के पहले दो हफ्ते में मिले थे। इस दौरान शोधकर्ताओं ने चार से सात हफ्ते तक दोस्‍ती के स्‍तर को देखना शुरु किया।

परिणाम में पाया गया कि 40 से 60 घंटे में कैजुअल फ्रैंडशिप, 80 से 100 घंटे बिताने पर अच्‍छी दोस्‍ती और 200 घंटे या इससे ज्‍यादा समय बिताने पर लोग बेस्ट फ्रेंड बन गए।

इस रिसर्च से ये बात तो साफ हो गई है कि आप किसी व्‍यक्‍ति के साथ जितना ज्‍यादा समय बिताएंगें वो आपका उतना ही ज्‍यादा अच्‍छा दोस्‍त बन पाएगा।

दोस्‍ती में प्‍यार हो तो बहुत अच्‍छा है लेकिन अगर ये दोस्‍ती तकरार में बदल जाए तो दिक्‍कत हो जाती है।

अगर आप अपने दोस्‍तों को ये अहसास करवाते हैं कि आप उनसे बेहतर हैं और इसी वजह से आज आपको सक्‍सेस मिली है और वो पीछे रह गए हैं तो इसमें आपकी गलती है। वक्‍त कभी भी एक जैसा नहीं रहता है।

मुश्किल समय में दोस्‍त ही काम आते हैं इसलिए उन्‍हें नीचा दिखाने की बजाय अपनी सक्‍सेस में उन्‍हें भी शामिल करें। अगर आप उन्‍हें प्‍यार और इज्‍जत देंगें तो फिर भला वो आपसे खुन्‍नस क्‍यों खाएंगें।

कई बार खुन्‍न्‍स में दोस्‍त आपका ही अहित करने में लग जाते हैं। इस बात को आपको बड़ी गंभीरता से लेना है और नज़रअंदाज़ नहीं करना है। क्‍या पता आपकी छोटी सी भी चूक आपको भारी पड़ जाए। दोस्‍तों को आपके हर राज़ और कमजोरी पता होती है और इसलिए वो बड़ी आसानी से आपको नुकसान पहुंचा सकते हैं।

अगर आपको ऐसा कुछ लग रहा है कि आपका कोई दोस्‍त खुन्‍नस में आपका नुकसान करने की सोच रहा है तो पहले तो उससे आराम से बात करें लेकिन तब भी बात ना बने तो उससे किनारा कर लेने में ही आपकी भलाई है वरना उनके साथ दोस्‍ती रखने में तो आपको कोई फायदा नहीं हुआ लेकिन नुकसान जरूर हो जाएगा।

Don't Miss! random posts ..