ENG | HINDI

महाराष्ट्र के कृषि मंत्री भाऊसाहेब फुंडकर का निधन

भाऊसाहेब फुंडकर

महाराष्‍ट्र सरकार के कृषिमंत्री भाऊसाहेब फुंडकर का आज दिल का दौरान पड़ने की वजह से निधन हो गया।

खबरों की मानें तो भाऊसाहेब फुंडकर बुधवार को एक कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे थे और यहीं पर उनकी तबियत बिगड़ने लगी। इस दौरान उन्‍हें ईलाज के लिए अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था और ईलाज के दौरान ही उनकी मौत हो गई।

कृषि मंत्री थे भाऊसाहेब फुंडकर

67 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कहने वाले भाऊसाहेब महाराष्‍ट्र भारतीय जनता पार्टी ईकाई के अध्‍यक्ष रह चुके हैं। महाराष्‍ट्र विधान परिषद् में विपक्ष के नेता भी थे। भाऊसाहेब के बेटे आकाश पांडुरंग फुंडकर खामगांव विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं।

पीएम ने भी दी श्रद्धांजलि

भाऊसाहेब के निधन पर खुद भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने भी शोक जताया और अपने सोशल मीडिया अकाउंट ट्विटर पर उन्‍हें श्रद्धांजलि दी। शोक जताते हुए पीएम मोदी ने लिखा कि ‘ महाराष्‍ट्र सरकार में कृषि मंत्री पांडुरंग फुंडकर के निधन से मैं स्‍तब्‍ध हूं। उन्‍होंने महाराष्‍ट्र में बीजेपी के निर्माण में महत्‍वपूर्ण योगदान दिया। वह राज्‍य के किसानों की सेवा के लिए हमेशा आगे रहे। मेरी संवेदना उनके परिवार और समर्थकों के साथ है।

महराष्‍ट्र के सीएम ने भी जताया शोक

पीएम नरेंद्र मोदी के साथ-साथ महराष्‍ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस ने भी कृषि मंत्री के निधन पर शोक जताया है। उन्‍होंने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से ट्वीट कर श्रद्धांजलि भी दी। उन्‍होंने ट्विटर पर लिखा कि फुंडकर के पार्टी संगठन और राज्‍य सरकार के मंत्री के रूप में योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता है। राज्‍य में शुरु की गई अनेक विकासमूलक योजनना का श्रेय उन्‍हें ही जाता है। फडणवीस ने कहा कि हम कॉर्पोरेट और कृषि के विषयों पर पूरी तरह से उन पर निर्भर थे।

महाराष्‍ट्र के कृषि मंत्री के पद पर नियुक्‍त पांडुरंग का गुरुवार तड़के 4.35 बजे हार्ट अटैक से निधन हो गया। उनके परिवार में उनकी पत्‍नी और दो बेटे हैं। काफी समय तक राज्‍य में बीजेपी के लिए काम करने के अलावा वो तीन बार अकोला से सांसद भी रहे हैं। उन्‍हें राजीनिति का बड़ा चेहरा माना जाजात था। कॉर्पोरेट मामलों और कृषि क्षेत्र का विशेषज्ञ भी उन्‍हें समझा जाता था।

सांस लेने में थी दिक्‍कत

जैसा कि हमने आपको पहले भी बताया कि पांडुरंग को बुधवार को सांस लेने में दिक्‍कत हो री है और इसके चलते उन्‍हें मुंबई के सोमैया अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था। यहां तड़के हार्ट अटैक से उनका निधन हो गया। 1991-1996 के बीच उन्‍होंने बीजेपी की राज्‍य इकाई के अध्‍यक्ष के रूप में कार्यभार संभाला था। 8 जुलाई, 2016 को उन्‍होंने फडणवीस सरकार में कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली थी। भाऊसाहेब राज्‍य के बड़े ओबीसी नेता माने जाते थे।

बीजेपी के सभी दिग्‍गज नेताओं ने भाऊसाहेब के निधन को देश, राजनीति और पार्टी के लिए एक बहुत बड़ी क्षति बताया। अमित शाह के अलावा और भी कई दिग्‍गज नेताओं ने सोशल मीडिया के ज़रिए भाऊसाहेब के निधन पर दुख व्‍यक्‍त किया।

बीजेपी के दिग्‍गज नेता भाऊसाहेब फुंडकर के निधन का दुख यंगिस्‍तान और उसकी टीम को भी बहुत है और यंगिस्‍तान की ओर से उन्‍हें श्रद्धांजलि देते हैं।

Don't Miss! random posts ..