ENG | HINDI

15 हजार किलो सोने से बने इस मंदिर को देखकर हैरान रह जाएंगे आप

वेल्लोर जिले का महालक्ष्मी मंदिर

वेल्लोर जिले का महालक्ष्मी मंदिर – आपने कई धार्मिक टीवी सीरियल और किताबों में पढ़ा होगा स्वर्ग के बारे में और आपके मन में स्वर्ग की एक तस्वीर बनी होगी, मगर कभी वहां जाने के बारे में सोच भी नहीं सकते.

लेकिन हम अगर आपसे कहें कि आप इसी धरती पर रहकर स्वर्ग में जा सकते है तो?

हैरान मत होइए, ये सच है. स्वर्ग की जो तस्वीर आपके मन में होगी शायद उसमें सोने से बनी सारी चीज़ें होंगी, चारों तरफ चमकती सोने की चीज़ें.

दीवार से लेकर फर्श तक. दरवाजे से लेकर खिड़कियों तक. मतलब चारो तरफ सिर्फ गोल्ड ही गोल्ड…

अगर आप ऐसे गोल्डन नजारे का आंनद जिंदा रहते लेना चाहते हैं तो तमिलनाडु के वेल्लोर जिले का महालक्ष्मी मंदिर आइए.

वेल्लोर जिले का महालक्ष्मी मंदिर की भव्यता अपने चरम पर मिलेगी, इसकी चमचमाहट देखकर आपकी आंखें सच में चौंधियां जाएंगी. महालक्ष्मी का ये मंदिर तमिलनाडु के वेल्लोर जिले में हैं. मंदिर के बाहर एक तालाब है जिसमें दुनिया भर की मुख्य नदियों का पानी आता है. जिसकी वजह से इसे सर्व तीर्थम सरोवर का नाम दिया गया है.

यह मदिर अपनी भव्यता के लिए दुनिया भर में जाना जाता है. ऐसा कहा जाता है कि वेल्लोर जिले का महालक्ष्मी मंदिर को बनाने में 15 हजार किलो सोने का इस्तेमाल हुआ है और इस पर करीब 300 करोड़ रुपए खर्च हुए हैं. दुनिया में ये इकलौता मंदिर है जिसके अंदर और बाहर इतनी बड़ी मात्रा में सोने का इस्तेमाल किया गया है. रात की चांदनी रौशनी जब इस सोने के मंदिर पर पड़ती है तो मानो स्वर्ग जमीन पर उतर आया है.

आर्टीफिशयल लाइटिंग भी ऐसी की गई है कि देखकर आपका मन खिल उठेगा. 100 एकड़ में फैले इस मंदिर में चारो तरफ हरियाली ही हरियाली है. 2007 में बने इस मंदिर की लोकप्रियता दिनों दिन बढ़ती जा रही है. मंदिर में दुनिया भर से लाखों श्रद्धालु रोजाना दर्शन करने आते हैं.

अगर आप भी अपनी स्वर्ग देखने की चाहत पूरी करना चाहते हैं तो तमिलनाडू के इस मंदिर के दर्शन ज़रूर करें.

Don't Miss! random posts ..