ENG | HINDI

हर नई महिला पत्रकार के साथ बदतमीजी करते थे एम जे अकबर

एम जे अकबर

एम जे अकबर – भारत के विदेश राज्यमंत्री और पूर्व संपादक एम जे अकबर उन पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली प्रिया रमानी के खिलाफ 97 वकीलों की फौज खड़ी कर दी है, लेकिन इससे उनके खिलाफ लगने वाले आरोपों की संख्या में कोई कमी नहीं आ रही.

अब एक और महिला पत्रकार ने अकबर पर सनसनीखेज आरोप लगाए हैं . अब तक 15 सीनियर महिला जर्नलिस्ट एम जे अकबर पर आरोप लगा चुकी हैं. एम जे अकबर जैसे सीनियर जर्नलिस्ट का ये असली रूप देखने के बाद लोगों का पत्रकारों पर से भरोसा ही उठ जाएगा.

प्रिया रमानी के बाद अब पत्रकार तुषिता ने एम जे अकबर पर गंभीर आरोप लगाए हैं.

तुषिता ने लिखा कि बात 1992 की है. वह टेलिग्राफ में ट्रेनी थीं और अकबर ने पत्रकारिता छोड़कर पॉलिटिक्स जॉइन की थी. इसी दौरान अकबर जब कोलकाता आए तो वह अपने कई कलीग के साथ उनसे मिलने गई. बाद में अकबर ने उन्हें घर पर फोन कर बुलाना शुरू कर दिया. कई बार बुलाने के बाद तुषिता जब अकबर से मिलने होटल के कमरे में पहुंची तो अकबर ने अंडरवियर में दरवाजा खोला. उन्होंने लिखा- “मैं दरवाजे पर खड़ी रही, डर गई और मुझे अजीब लगा. आखिरकार मैं अंदर गई और इसके बाद अकबर बाथरोब पहनकर आए.” तुषिता ने एक वेबसाइट पर लिखे आर्टिकल में अपनी आपबीती सुनाई और सवाल उठाया है कि क्या नैतिकता की परख के लिए 22 साल की एक लड़की का इस तरह स्वागत किया जाता है?

1993 में एम जे अकबर डेक्कन क्रोनिकल के एडिटर इन चीफ थे और तुषिता हैदराबाद में सीनियर सब एडिटर थीं. इसी दौरान अकबर ने अखबार के पन्ने पर चर्चा करने के लिए उन्हें होटल बुलाया और अचानक जोर से पकड़ लिया और चूमने लगे. इसके बाद अगले दिन दफ्तर के कांफ्रेंस में रूम में भी तुषिता ने दोबारा चूमने का आरोप लगाया है.

आपको बता दें कि एम जे अकबर भले ही अपने ऊपर लगे यौन शोषण के तमाम आरोपों को झूठा बता रहे हों, मगर सिर्फ देश में ही कई विदेशी  पत्रकारों ने भी उनपर आरोप लगाए हैं. इंग्लैंड की एक पत्रकार रुथ डेविड ने एक ब्लॉग लिखा है कि वह जब टीनेज में थीं, तभी अकबर ने उनका यौन शोषण किया था. फोर्स न्यूज मैगजीन की एग्जेक्यूटिव एडिटर गजाला वहाब ने भी कहा कि अककबर ने ऑफिस के अपने कमरे में यौन शोषण किया.

वहाब ने एक लेख में विस्तार से बताया था कि किस तरह एम जे अकबर बार-बार उनका यौन शोषण करते थे. गजाला ने बतौर इंटर्न 1994 में एशियन एज अखबार ज्वाइन किया था. एम जे अकबर तब वहां एडिटर थे. गजाला ने लिखा कि ऑफिस में उनका तीसरा साल था, तभी अकबर की नजर उन पर पड़ी. उनका डेस्क अकबर के केबिन के सामने शिफ्ट कर दिया गया. अकबर अक्सर उन्हें घूरते रहते और अश्लील मैसेज भेजते. गजाला ने आर्टिकल में बताया कि 1997 की बात है. एक बार अकबर ने पीछे से आकर उन्हें जकड़ लिया. ऊपर से नीचे तक छुआ. उन्होंने छुड़ाने की कोशिश की, लेकिन अकबर प्लास्टर की तरह चिपके रहे. अकबर इस दौरान केबिन का दरवाजा भी ब्लॉक करके रखते थे. गजाला लिखती हैं कि वे इसके बाद टॉयलेट में जाकर रोती रहीं.  गजाला के मुताबिक, अगली शाम अकबर ने फिर उन्हें केबिन में बुलाया और दरवाजा बंद करके किस किया. वो खुद को छुड़ाने के लिए संघर्ष करती रहीं. ऑफिस से बाहर आकर पार्किंग वाली जगह में बैठकर रोईं.

इन तमाम महिलाओं के आरोपो ने अकबर का घिनौना सच सबके सामने लाकर रख दिया है. खुद को सफेदपोश नेता और जर्नलिस्ट कहने वाले अकबर हर नई लड़की के साथ घिनौनी हरकत करते थे.

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...

Don't Miss! random posts ..