ENG | HINDI

किस्मत के धनी धोनी ने रचा इतिहास

msDhoni

अभी कुछ समय पहले तक खेल प्रेमी बोल रह थे कि टीम इंडिया के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को अब संन्यास की घोषणा कर देनी चाहिए.

लेकिन देखिये वक़्त ने करवट ली है और वही विलन अब हीरो बन गया है.

आस्ट्रेलिया के खिलाफ ट्वेंटी-20 सीरीज को अपने नाम कर धोनी ने सभी आलोचकों का मुंह बंद कर दिया है.

आस्ट्रेलिया को उसी की जमीन पर दूसरे ट्वेंटी-20  मैच में 27 रन से हराकर तीन मैचों की सीरीज 2-0 से अपने नाम कर ली.

मैच में भारत ने टॉस गंवाने के बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए आस्ट्रेलिया के सामने 20 ओवर में तीन विकेट पर 184 रन का स्कोर बनाया और लक्ष्य का पीछा करने उतरी मेजबान टीम निर्धारित ओवर में आठ विकेट खोकर 157  रन ही बना सकी.

इस मैच में धोनी ने दो विश्व रिकॉर्ड कायम किये. अब तो ऐसे लगने लगा है कि जैसे धोनी का हर मैच ही एक रिकॉर्ड होता है.

तो आइये नजर डालते हैं धोनी के इन रिकार्ड्स पर-

भारत के सबसे सफल कप्तान बनने वाले धोनी ऑस्ट्रेलिया में बाइलेटरल सीरीज जीतने वाले पहले भारतीय कप्तान बने. ऐसी कोई सीरीज जिसमें केवल आस्ट्रेलिया और एक अन्य टीम हो, कोई तीसरी टीम नहीं हो. ऐसी सीरीज जीतने वाले धोनी भारत के पहले कप्तान हैं. विश्व स्तर पर बात करें तो ऐसा करने वाले विश्व के सातवें कप्तान है.

धोनी की कप्तानी में भारत ने आस्ट्रेलिया में यह दूसरी सीरीज अपने नाम की है.

ऐसा पहले 2008 में हुआ था जब धोनी ही की कप्तानी में टीम ने आस्ट्रेलिया को उसके घर पर हराया था.

अब अगर धोनी के दुसरे रिकॉर्ड पर नजर डालें तो वह रिकॉर्ड धोनी द्वारा सबसे ज्यादा स्टम्पिंग से जुड़ा हुआ है. कप्तान धोनी कल विश्व के सबसे ज्यादा स्टम्पिंग करने वाले विकेटकीपर बने हैं. वह अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में 140 स्टंपिंग करने वाले पहले खिलाड़ी भी बन गए.

इन्होंने श्रीलंका के पूर्व विकेटकीपर कुमार संगाकारा के 139 स्टंपिग को पीछे छोड़ा.

अब इससे बेहतर बात और क्या हो सकती है कि ट्वेंटी-20 विश्व कप के लिए अब एक महीने से भी कम समय रह गया है और भारतीय टीम रंग में दिख रही है.

वैसे अभी भारत की नजर आस्ट्रेलिया से तीसरे ट्वेंटी पर है वह मैच जीत कर टीम इंडिया ट्वेंटी-20 रैंकिंग में अव्वल नंबर पर आ सकती है.

Don't Miss! random posts ..