ENG | HINDI

लव मैरिज और अरेंज मैरिज का ये फर्क समझना क्यों जरुरी है?

लव मैरिज और अरेंज मैरिज

लव मैरिज और अरेंज मैरिज – कहते है कि एक इंसान का जीवन तब ही सफल माना जाता है जब उसकी शादी होती है.

हालाँकि कुछ अपवाद भी होते है जो शादी नहीं करते है. वैसे तो दुनिया में शादी करने के दो तरीके मौजूद है, पहला लव मैरिज और दूसरा अरेंज मैरिज. इसलिए आज हम आपको लव मैरिज और अरेंज मैरिज का ये बेसिक डिफरेंट समझना क्यों जरुरी है? में बेसिक डिफरेंस बताने जा रहे है. जो आपकी शादी में बहुत काम आयेंगे.

आइये जानते है-

लव मैरिज और अरेंज मैरिज – 

अरेंज मैरिज-

अरेंज मैरिज करने का फैसला करने में घरवालों और रिश्तेदारों सभी की मर्जी होती है. हालाँकि हमारे कल्चर में हमेशा से ही अरेंज मेरिज को प्राथमिकता दी जाती है. अरेंज मेरिज में सिर्फ लड़का और लड़की की शादी नहीं होती बल्कि दो परिवारों की भी शादी होती है. हमारे देश में कहा जाता है की अरेंज मेरिज किसी भी शादी की सफलता की ग्यारंटी होती है. अरेंज मेरिज में एक नए अजनबी इंसान के साथ आपको जिंदगी शुरू करनी पड़ती है. लेकिन जब आप एक-दूसरे को समझने लगते है तो आपकी जिंदगी आसान हो जाती है और कहा जाता है कि शादी सफल हो जाती है.

लव मैरिज-

लव मैरिज की सबसे अच्छी बात ये है कि जिससे भी आपकी शादी होने जा रही है आप उनको पहले से ही जानते है और समझते है. लेकिन कई बार एक-दूसरे को समझने के बाद भी कपल्स में लड़ाई-झगड़े होने लगते है. लव मैरिज के बाद सबसे बड़ी दिक्कत ये आती है लड़की को एक नए और बिलकुल अजनबी परिवार के साथ रहना पड़ता है. इसलिए कई बार एक-दूसरे को समझने में प्रॉब्लम होने लगती है. वहीं लव मैरिज के बाद भी खासकर लड़कियां अपने पति को अपना बॉयफ्रेंड ही समझती है जिस वजह से भी प्रॉब्लम होने लगती है. इसलिए प्रेम विवाह के बाद ये स्थितियां बनती है.

दोनों ही शादियों के अपने-अपने नुकसान और फायदें है, लेकिन जब दो समझदार इंसान एक-दूसरे से शादी करते है तो वो चाहे अरेंज मैरिज हो या लव मैरिज हो, जरुर सफल होती है.

लव मैरिज और अरेंज मैरिज में से आप किसे चुनेंगे?

Don't Miss! random posts ..