ENG | HINDI

भगवान शिव को नहीं भाते इन 5 आदतों वाले मनुष्य, हर शिव भक्त का जानना यह जरूरी है

Lord Shiva Does Not Like These Kind Of People

आप अगर भगवान शिव की पूजा करते हैं तो आपको अपनी कुछ आदतों का त्याग जरूर करना चाहिए.

अब आप बोलोगे कि भगवान गलतियाँ माफ़ कर देते हैं. तो यह बात तो सत्य है लेकिन हर बार अगर कोई एक ही बात दोहराता रहे तो वह गलती नहीं होती है.

इसलिए भगवान शिव को कुछ बातें बिलकुल भी पसंद नहीं हैं और हमें उन बातों का त्याग जल्द से जल्द कर देना चाहिए.

शिव भगवान को झूठ बिलकुल पसंद नहीं है:-

आप गर बात-बात में झूठ बोलते हैं. या झूठ का सहारा लेकर आगे बढ़ना चाहते हो तो आपकी यह आदत शिव भगवान को बिलकुल पसंद नहीं आती होगी. अगर आपको लगता है कि बिना झूठ के आपका काम नहीं चल सकता है तो यह आपकी भूल है. यहाँ तक कि धर्म शास्त्रों में भी जिक्र है कि शिव भगवान ने मात्र एक झूठ के लिए माता पार्वती जी का भी त्याग कर दिया था.

संभोग की अधिकता वाले लोग:-

जो लोग संभोग यानी सेक्स का जुनून खुद पर सवार रखते हैं उन लोगों को भोलेनाथ पसंद नहीं करते हैं. इस तरह के व्यक्ति विचारों से तो अपवित्र होते ही हैं अपितु इनका दिल भी साफ़ नहीं होता है. इस तरह के लोग संभोग क्रिया के लिए समय भी नहीं देखते हैं जिसके कारण वह पाप के भोगी बनते जाते हैं.

जो स्त्रियाँ या पुरूष अपने साथी को धोखा देते हैं:-

ईश्वर ने पति पत्नी का बड़ा पवित्र एक रिश्ता बनाया है. धर्म शास्त्रों में कहा जाता है कि यदि कोई भी मानव इस रिश्ते को धोखा देता है तो उसको ईश्वर भी अपनाने से मना कर देते हैं. तो शिव भीस तरह के लोगों को पसंद नहीं करते हैं.

अहंकारी इन्सान को:-

जो इंसान दूसरों का आदर नहीं करते हैं या जो लोग हमेशा अपनी सम्पति, बल, ज्ञान या रूप किसी भी चीज पर अहंकार कर रहे होते हैं इस तरह के लोगों को कैलाशनाथ बिलकुल नहीं पसंद करते हैं. रावण भी इसी तरह का इंसान था और शिव जी की मज़बूरी होती थी कि वह उसे वरदान देते थे लेकिन उसका अंत हम सभी को पता ही है.

शास्त्रों और संतों का निरादर करने वालों को:-

जो लोग शास्त्रों और संतों का अपमान करते हैं भोलेनाथ उनको कभी दर्शन नहीं देते हैं. शास्त्रों को माता-पिता के समान बताया गया है. शास्त्रों से हम जीवन जीना सीखते हैं और इसी तरह से संत लोग हमें शास्त्र से बातें बताते हैं. इन दोनों का जो अपमान करता है वह शिव को पसन्द नहीं आता है.

ऊपर बताई गयी सारी बातों को हम इंसानी बुराई के रूप में देख सकते हैं. लेकिन शिवपुराण में भी इस तरह की आदतों का जिक्र आता है जहाँ बताया गया है कि किस प्रकार के इंसान भगवान शिव को पसंद नहीं है.

Don't Miss! random posts ..