ENG | HINDI

महिला ने चिड़ियों के नाम लिखी लाखों की वसीयत !

व्यक्ति का कर्म ही उसे जीवन के साथ व बाद में लोगों के बीच याद रखने में सहायता करता है।

जैसे न्यूयॉर्क में रहने वाली लेस्ली एन मेंडल, जिनका 69 वर्ष की आयु में निधन हो गया है। लेकिन मृत्यु के बाद, लेस्ली को लोगों के बीच मिसाल के रूप याद रखा जा रहा है।

आख़िर ऐसा क्या रहस्य है लेस्ली नाम की महिला के पीछे जो वह इन दिनों सुर्खियों में बनी हुई है।

पेशे से लेस्ली एक बिजनेस वुमेन थी। जो लाखों डॉलर की प्रॉर्टी की मालकिन थीं। मगर मृत्यु से पहले लेस्ली ने अपनी एक वसीयत लिखीं, वसीयत में लेस्ली ने अपनी लाखों की संपत्ति से 1 लाख डॉलर चिड़ियों के नाम दान दिया था। लेस्ली की वसीयत सिर्फ यहीं खत्म नहीं है, उनकी यह इच्छा भी थीं कि इन चिड़ियों को रोज खाना खिलाया जाए और अच्छे से देखभाल भी की जाए।

चिडियों को वसीयत दान देने वाली लेस्ली एन मेंडल है कौन ?

लेस्ली एन मेंडल

लेस्ली एन मेंडल एक बिजनेस वुमेन थी। जिनका नाम अमेरिका में अमीर लोगों की सूची में शामिल था। लेस्ली ने एक शादी शुदा लेखक आर्थर हरजॉग से विवाह किया था। लेकिन आर्थर से लेस्ली एन मेंडल को संतान नहीं हुई । इसलिए लेस्ली ने लेखक की पहली शादी से सौतेले बेटे मैथ्यू को ही, चिड़ियों को दान किये वसीयत का ट्रस्टी बनाया दिया।

लेस्ली एन मेंडल के जीवन के दौरान उनकी छवि बेहद सम्मानजनक रहीं थी वह अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जिमी कार्टर के राष्ट्रपति पद के अभियान के साथ जुड़ी रहीं और साथ ही लेस्ली ने एक कमेटी में बतौर स्पीड़ टाइपिस्ट की भूमिका भी निभाई थी।

लेस्ली एन मेंडल की वसीयत में लिखी महत्वपूर्ण जानकारी

मेरी इच्छा है कि चिड़ियों को रोज खाना खिलाया जाए। सप्ताह में हर सोमवार और गुरुवार को चिड़ियों की बिल्डिंग साफ की जाए। लेस्ली ने इस बात पर विशेष ध्यान दिलाया कि चिड़ियों का खाना केवल एवी-केक्स, कैरेट, वॉटर और पॉपकॉर्न से ही खरीदा जाएगा। आपको बता दें कि एवी-केक्स पक्षियों के लिए खाद्य पदार्थ निर्माण की एक कंपनी है।

लेस्ली एन मेंडल

हालांकि वसीयत के दौरान लेस्ली से कुत्ते व बिल्ली के लिए फंड देने को भी कहा था। मगर लेस्ली ने कुत्ते व बिल्ली के लिए फंड देने के संबंध में कुछ नहीं कहा।

लेस्ली एन मेंडल

लेस्ली एंड मेंडल की यह पहल अपने में एक मिसाल है। क्योंकि ऐसे वाकयात कम ही देखने को मिलते हैं। अधिकतर लोग वसीयत लिखते ही नहीं और जो लिखते हैं वह एनजीओ या अपने परिवार के सदस्यों को दान में देते हैं।

लेस्ली एन मेंडल

मगर लेस्ली एन मेंडल का यह कदम एक मिसाल है जो उनके निधन के बाद भी लोगों के बीच प्रेरणा का काम करेगा। जिससे लोग पक्षियों के प्रति लेस्ली जैसी पहल करने की साहस दिखाएंगे ।

Don't Miss! random posts ..