ENG | HINDI

कोलकाता वनडे से पहले ऑस्ट्रेलिया को सता रहा है ‘त्रिमूर्ति’ का डर

कोलकाता वनडे

कोलकाता वनडे – भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच कोलकाता के ईडन गार्डन में 5 मैचों की वनडे सीरीज का दूसरा मैच खेला जाना है।

सीरीज का पहला मुकाबला भारत जीत चुका है और टीम का इरादा दूसरे मैच को भी जीतकर सीरीज में 2-0 की बढ़त बनाने को होगा। पहले मैच में हार के बाद ऑस्ट्रेलिया की टीम को दूसरे वनडे में भी हार का डर सता रहा है। इसके पीछे की वजह भारतीय टीम का शानदार खेल तो है ही इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया के इस डर की सबसे बड़ी वजह टीम इंडिया की त्रिमूर्ति है।

कोलकाता वनडे में कौन है ये त्रिमूर्ति? आइए जानते हैं।

विराट कोहली:

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली भले ही ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले वनडे में 0 पर आउट हो गए हों। लेकिन उन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ रन बनाना बहुत रास आता है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कोहली का बल्ला आग उगलता है। कोहली ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 24 मैचों में 52.73 की औसत से 1,002 रन बनाए हैं। इसके अलावा कोहली ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 5 शतक और 4 अर्धशतक भी लगाए हैं। साफ है कोहली को कंगारुओं के खिलाफ रन बनाना बहुत अच्छा लगता है और दूसरे वनडे में कोहली के बल्ले से बड़ी पारी देखने को मिल सकती है।

कोलकाता वनडे

रोहित शर्मा:

रोहित शर्मा का वो दोहरा शतक कौन भूल सकता है जो उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जड़ा था। खास बात ये है कि रोहित ने अपने करियर में 2 दोहरे शतक लगाए हैं और उनमें से एक दोहरा शतक उन्होंने ईडन गार्डन्स में लगाया था। रोहित ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 24 मैचों में 66.25 की औसत से 1,325 रन बनाए हैं। रोहित के बल्ले से 2 शतक, 1 अर्धशतक निकला है। रोहित का ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सर्वश्रेष्ठ स्कोर 209 रन है।

कोलकाता वनडे

महेंद्र सिंह धोनी:

एम एस धोनी की बल्लेबाजी के बारे में कौन नहीं जानता। धोनी जब अपने रंग में होते हैं तो वो क्या कर सकते हैं ये किसी से छिपा नहीं है। धोनी ने कई मौकों पर अकेले दमपर भारत को मैच जिताए हैं। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भी धोनी का बल्ला जमकर रन बनाता है और रनों की बारिश करता है। धोनी ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अब तक 44 वनडे मैचों में 43.05 की औसत से 1,334 रन बनाए हैं। इस दौरान धोनी ने 2 शतक, 7 अर्धशतक लगाए हैं। धोनी का सर्वश्रेष्ठ स्कोर 139 रन रहा है।

कोलकाता वनडे

ये है कोलकाता वनडे की त्रिमूर्ति – साफ है तीनों ही खिलाड़ियों का रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बेहतरीन है और तीनों ही अगर चल निकले तो अकेले दमपर मैच का पासा पलटने का माद्दा रखते हैं। ऑस्ट्रेलिया की टीम को अगर दूसरा वनडे मैच जीतना है तो उन्हें किसी भी हाल में इन तीनों खिलाड़ियों को आउट करना होगा। भारत की टीम फिलहाल सीरीज में 1-0 से आगे चल रही है और अगर ऑस्ट्रेलिया को सीरीज में बराबरी हासिल करनी है तो उन्हें दूसरा वनडे हर हाल में जीतना होगा।

Don't Miss! random posts ..