ENG | HINDI

इन बातों से आसानी से जान सकते हैं किसी भी इंसान की फितरत !

इंसान की फितरत

इंसान की फितरत – कहते हैं कि इंसान की फितरत और उसकी आदतों का बदल पाना बहुत मुश्किल है लेकिन उसक इन्‍हीं बातों से उसके व्‍यवहार के बारे में जाना जा सकता है।

किसी भी इंसान की कुछ बातों और हरकतों से उसके बारे में सब कुछ जाना जा सकता है।

इन बातों और हरकतों से हम सामने वाले इंसान की प्रवृत्ति को ज्‍यादा बेहतर तरीके से जान सकते हैं। अमूमन हम ऐसी बातों पर या तो गौर नहीं करते और अगर करते भी हैं तो उसे बहुत हल्‍के में ले लेते हैं।

तो चलिए जानते हैं एक आम और खास इंसान की वो बातें और हरकतें और इंसान की फितरत…

ये है किसी इंसान की फितरत को जानने का पैमाना

किसी भी इंसान के संस्‍कार बता देंगें कि उसका परिवार कैसा है। आप जो भी बोलते हैं, जैसा भी बोलते हैं उससे आपके व्‍यवहार के बारे में पता चलता है। बहस बता देती है कि सामने वाले का ज्ञान कैसा है। नज़रें बता देती हैं कि उसका चरित्र कैसा है। ठोकरें बता देती हैं कि उसका ध्‍यान कहां था। स्‍पर्श बता देता है कि उसकी नीयत कैसी है। विनय बता देता है कि उसकी शिक्षा कैसी है। मुश्किलें बता देती हैं कि उसका हौंसला कैसा है। वाणी बता देती है कि वह किस मिजाज का है।

खुद का भी मूल्‍यांकन करें

ये बातें और बताए गए इशारे दूसरों की तरह हमारे ऊपर भी लागू होते हैं। इन मापदंडो पर हम अपना स्‍वयं का मूल्‍यांकन भी करें तो हमें हमारी हकीकत का पता लग जाएगा। बस शर्त यही है कि जो भी मूल्‍यांकन करें वो निष्‍पक्ष होना चाहिए। अगर सभी बातें ठीक हैं तो बेहतर है अन्‍यथा हमें अपनी कमियों पर गौर करके उनमें सुधार करने की को‍शिश करनी चाहिए। यह भी सत्‍य है कि मृत्‍यु बता देती है कि जिंदगी क्‍या है।

अगर आप भी अपा मूल्‍यांकन करना चाहते हैं तो इस तरीके को अपना सकते हैं। इसके अलावा सामने वाले कि आदतों से भी उसके व्‍यवहार और फितरत के बारे में पता लगाया जा सकता है। हमारी जिंदगी में सबसे ज्यादा जरूरी होता है सांस लेना। हम सांस लेने में भी गलती कर जाते हैं। दरअसल, अधिकतर लोग सिर्फ इतनी सांस लेते हैं कि वो छाती तक जाए जबीकि गहरी सांस लेना जरूरी होता है। गहरी सांस से बॉडी पर पॉजीटिव असर पड़ता है और ब्लड प्रेशर भी सामान्य रहता है। आजकल लोग टीवी और कंप्यूमटर देखने की वजह से पर्याप्ति नींद नहीं ले पाते हैं और इस वजह से उनका दिमाग कमज़ोर हो जाता है और उनकी क्रिएटिविटी भी खत्म होती जाती है। हमेशा 7 से 8 घंटे की नींद जरूरी होती है।

आपकी छोटी-छोटी आदतें आपका भविष्‍य बिगाड़ सकती हैं। इन छोटी-छोटी बातों की वजह से आगे चलकर आप बहुत बीमार पड़ सकते हैं और तब आपको तो तकलीफ सहनी ही पड़ेगी साथ ही आपका पैसा भी बीमारी के ईलाज में खूब खर्च होगा इसलिए जितना जल्‍दी हो सके सुधर जाएं।

इस तरह से जान सकते है इंसान की फितरत – अगर आप इन बातों का ध्‍यान रखेंगें तो आपका जीवन सुखी और समृद्ध बन सकता है आपके जीवन का सारा कष्‍ट दूर हो सकता है और आप सुखी रह सकते हैं।

Don't Miss! random posts ..