ENG | HINDI

मिलिए असल जिंदगी के किंग नंबर 1 से, जो जीता है दो-दो ज़िंदगियाँ !

किंग सीफस बंसाह

किंग सीफस बंसाह – हम सभी बॉलीवुड के बहुत बड़े फैन है और लगभग सभी ने जुडवा यानी एक ही हीरो को डबलरोल करते हुए परदे पर जरूर देखा है.

ऐसी फिल्मो में अकसर एक ही व्यक्ति तो तरह की जिंदगी जीता है अगर आप टॉलीवुड के फैन होंगे तो आपने किंग नंबर 1 फिल्म जरूर देखी होगी, आज हम आपको उसी फिल्म की ही तरह हकीकत में ऐसा जीवन जीने वाले राजा से मिलवाने ले जा रहे हैं. जो की असल में डबलरोल वाली जिंदगी जीते हैं.

दरअसल ये व्यक्ति राजा का काम भी करता है और साथ ही मैकेनिक का काम भी करता है.

दोस्तों हम बात कर रहे हैं दुनिया के एक ऐसे राजा की जो अपने देश वासियों को स्काइप के जरिए दिशा और निर्देश देता है. और जब वह इन सभी चीजों से फ्री हो जाता है तो एक मैकेनिक का काम करता है. बता दे की हम अफ्रीका के एक राजा के बारे में बात कर रहे हैं जो की आज कल इंटरनेट पर सभी के फेवरेटकिंग बने हुए हैं.

तो आइए जानते हैं इस अनोखे डबलरोल प्ले करने वाले किंग नंबर 1 के बारे में –

किंग सीफस बंसाह

आपको जानकर शायद हैरानी हो लेकिन ये राजा केवल एक ही देश पर राज नहीं करते बल्कि यह अफ्रीका के दो-दो देशों के राजा हैं. 70 साल के किंग सीफस बंसाह का जन्म अफ्रीका में ही हुआ था लेकिन वह फिल्हाल जर्मनी में रह रहे हैं और वही से स्काइप के जरिए अपनी राज गद्दी संभाल रहे हैं. इसके अलावा किंग सीफस बंसाह कार मैकेनिक की नौकरी भी करते हैं.

अब आप सोच रहे होंगे की भई दो-दो देशो का राजा होने के बावजूद ये शख्स एक मामूली से मैकेनिक की नौकरी भला क्यों कर रहा है.

तो आइए बताते हैं आपको इसके पीछे छुपी वजह के बारे में –

किंग सीफस बंसाह

बता दे की अफ्रीका के राजा सहाब बंसाह को एक आम आदमी की तरह जीवन जीना ज्यादा पसंद है. और यही कारण है की वह राजपाट छोड़कर एक दूसरे देश में मैकेनैक का काम कर रहे हैं. लेकिन उन्होंने फिर भी अपना शासन पूरी तरह से नहीं छोड़ा है वह आज भी अपने दोनों देशों टोगो और घाना में स्काइप के जरिए अपना शासन चला रहे हैं.

दो-दो जिंदगी जी रहे इस किंग सीफस बंसाह का जन्म वैसे तो घाना देश में ही हुआ था लेकिन राज गद्दी मिलने से पहले ही वह 1970 में जर्मनीशिफ्ट हो गए थे. किंगबंसाह का अधिकार घाना और टोगो देश की सीमा के पास के क्षेत्र में रह रहे 3 लाख लोगों पर है. बंसाह को टोगो में सुपीरियर एंड स्पिरिचुएल चीफ ऑफ इवेपीपुल कहा जाता है.

किंग सीफस बंसाह की यह कहानी तब सामने आई जब एक न्यूज रिपोटर उनसे मिलने जर्मनी पहुंचा वहाँ अपने एक इंटरव्यू के जरिए इस अफ्रीकी राजा ने बताया कि कैसे वह दो देशों के राजा होने के बावजूद एक आम आदमी का जीवन भी बसर कर रहे हैं. साथ ही उनका ये भी कहना था की उन्हें राजा बनने से ज्यादा खुशी और मजा एक आम कार मैकेनिक में आता है.

Don't Miss! random posts ..