ENG | HINDI

प्लेन में टॉयलेट साफ करने वाला बना एयरलाइंस कंपनी का मालिक, कहानी बड़ी दिलचस्प है

काजी रहमान

काजी रहमान – स्वर्गीय राष्ट्रपति और महान वैज्ञानिक अब्दुल कलाम हमेशा कहते थे कि सपने बड़े देखो तभी वो पूरे होंगे.

दुनिया में बहुत से लोग हैं जो बस सपने देखते हैं, मगर उस सपने को पूरा करने की कोशिश नहीं करतें, वहीं कुछ लोग ऐसे हैं जो तमाम अभावों में भी बहुत बड़े सपने देखते और सिर्फ देखते ही नहीं है अपने उस सपने को पूरा भी कर दिखाते हैं. ऐसे ही एक शख्स हैं ब्रिटने के काजी रहमान, उनकी कहानी से वाकई सबको प्रेरणा लेनी चाहिए.

आपको शायद यकीन नहीं होगा, लेकिन काजी कभी प्लेन की टॉयलेट साफ किया करते थे, लेकिन आज खुद वो एयरलाइनं के मालिक बन गए हैं.

काजी रहमान

काजी रहमान  खुद को हलाल रिचर्ड ब्रेन्सन बुलाते हैं. काजी रहमान की एयरलाइंस का नाम फिरनास एयरवेज (Firnas Airways) है.

अपनी पहली उड़ान के साथ फिरनास एयरवेज ब्रिटेन की पहली शरियत कानून पर चलने वाली एयरलाइंस है. इसका मतलब इस एयरलाइंस आपको इस्लाम के कानून के हिसाब से सुविधाएं मिलेंगी. यानी आप इस एयरलाइंस में शराब नहीं परोसी जाएगी. बांग्लादेशी मूल के काजी रहमान की जिंदगी पर चैनल 4 ने एक डॉक्यूमेंट्री जारी की है.

काजी रहमान

काजी का प्लान भविष्य में ब्रिटेन से यूएई, पाकिस्तान, बांग्लादेश के लिए सर्विस देने की है.साथ ही इस एयरलाइंस में आपको हिजाब पहनी एयरहोस्टेस नजर आएंगी. 32 साल के काजी रहमान एक बच्चे के पिता हैं. वे अपने परिवार के साथ 11 साल की उम्र में ही 1997 में ब्रिटेन आ गए थे. उन्होंने स्कूलिंग करने के बाद लंदन सिटी एयरपोर्ट पर बतौर टॉयलेट क्लिनर काम शुरू किया था.

उन्होंने अपनी डॉक्यूमेंट्री में कहा कि वह शुरू से ऊंची सोच रखने वाले व्यक्ति थे. उस नौकरी के दौरान भी वह सूट पहनकर काम पर जाते थे. काजी रहमान को सफलता उनकी परफ्यूम के बिजनेस सुन्नामस्क से लगी. हालांकि बीते 2 साल से उन्होंने अपना सारा ध्यान एयरलाइंस खोलने में लगा दिया था. वर्तमान में फिरनास एयरवेज अपने 19 सीटर विमान को किराए पर देने में लगी है. काजी के अनुसार जल्द ही फिरनास की पहली उड़ान की तैयारी हो रही है.

काजी रहमान

काजी की सफलता ने ये साबित कर दिया है कि कामयाबी सुविधाओं की मोहताज नहीं होती, बस ज़रूरत होती है शिद्दत, लगन और उस काम में खुद को पूरी तरह से झोंक देने की. आपके पास भले ही पैसे न हो, मगर आप मेहनत और लगन से काम तो कर ही सकते हैं, अपने दिमाग से नई चीज़ें सोच तो सकते हैं न, और जब आप इतना सबकुछ कर लेंगे तो आपका कामयाब होने से कोई नहीं रोक सकता.

दुनिया में ऐसे बहुत से लोग हैं जिन्होंने बहुत छोटे स्तर से शुरुआत की, मगर आज दूसरो ंके लिए कामयाबी की मिसाल बन गए हैं. इसलिए कभी किसी काम को छोटा न समझे और पहले प्रयास में असफल होने पर हार मानकर बैठने की बजाय, अगली बार दोगुनी मेहनत से काम करें.

Don't Miss! random posts ..