ENG | HINDI

जेएनयू के कन्हैया लाल की तरह फेमस होने के लिए आप भी कर सकते हैं ये काम

फेमस होने के लिए

फेमस होने के लिए – सफलता और लोकप्रियता, ये दोनों ही ऐसी चीज़े हैं जिन्‍हें आप दूसरों की राह पर चलकर हासिल नहीं कर सकते हैं।

दूसरों की तरह बनकर या उनकी राह पर चलकर आप फेमस नहीं हो सकते।

विराट कोहली, सचिन की राह नहीं चले और मोदी जी, अटल जी की राह पर नहीं चले। इन सभी ने अपना रास्‍ता खुद बनाया है और इसी तरह जेएनयू से फेमस हुए कन्‍हैया लाल ने भी अपना रास्‍ता खुद ही बनाया है।

कन्‍हैया कुमार एक वामपंथी छात्र संगठन के नेता हैं।

जेएनयू स्‍टूडेंट यूनियन के अध्‍यक्ष भी हैं। दोस्‍तों, देखा जाए तो इस देश में दो ही संगठन राजनी‍ति कर रहे हैं, एक तो संघ और एक लेफ्ट वाले। कन्‍हैया जी लेफ्ट संगठन से जुड़े हैं और इसी वजह से उन्‍हें इतनी ज्‍यादा लोकप्रियता हासिल हुई है।

इस संगठन से जुड़े लोगों को खूब मेहनत करनी पड़ती है जैसे खूब मीटिंग अटेंड करना, पर्चे चिपकाना, घूम-घूम कर कैंपेनिंग करना। जेएनयू की कैंपेनिंग काफी अलग होती है। यहां आपको दूसरे कैंपस की तरह आठ लोगों को अपनी जीप में बैठाकर पर्चे उछालने से नेतागिरि का सर्टिफिकेट नहीं मिल जाता।

कन्‍हैया लाल जैसा बनने के लिए शरीर को गलाना पड़ता है।‍ जिस जनता के लिए आप खड़े हुए हैं उसके साथ यथार्थ और उनके अंर्तविरोधों को समझना पड़ता है।

अगर आप छात्र संघ के बीच फेमस होने के लिए आपको नेतागिरि से ज्‍यादा छात्रों की मुश्किलों पर ध्‍यान देना होगा और इन सबके साथ अपनी पढाई भी पूरी करनी होगी।

ये सब करना पड़ता है फेमस होने के लिए – अगर आप इन सब बातों को समझ जाते हैं तो आप भी छात्रसंघ में कन्‍हैया की तरह फेमस हो सकते हैं। कन्‍हैया के रोल में तो फिर भी थोड़ी-बहुत नेगेटिविटी दिखाई देती है लेकिन इन खूबियों को अपनाने के बाद आप पॉजीटिव वे में फेमस बन सकते हैं।

Don't Miss! random posts ..