ENG | HINDI

सावधान! आतंकी बगदादी के हाथ लग चुका है एक ऐसा हथियार जो कहीं भी तबाही फैला सकता है

ड्रोन के जरिए हमला

ड्रोन के जरिए हमला – इस्लामिक स्टेट  ऑफ़ इराक एंड सीरिया के आतंकियों के हाथ एक ऐसा हथियार लग चुका है जिससे वे जनता ही नहीं बल्कि इराकी सेना को भी भारी नुकसान पहुंचा सकते हैं.

पिछले दिनों को इराकी फौजों में उस वक्त भगदड़ मच गई थी जब आईएस ने अचानक उन पर इस हथियार के जरिए हमला कर दिया.

बताया जाता है कि उत्तरी इराक में लड़ रहे इस्लामिक स्टेट के 2 आतंकवादियों ने एक ड्रोन के जरिए हमला किया. यह पहला मौका था जब आतंकियों ने इराकी सेना पर ड्रोन के जरिए हमला किया है.

6 फुट चौड़े इस ड्रोन पर एक छोटा बम बंधा हुआ था. यह ड्रोन मोसुल के उस हिस्से से गुजरा, जिसपर इराकी गठबंधन सेना का कब्जा है. यह ड्रोन अकेला नहीं था, बल्कि उसके साथ एक ओर ड्रोन भी जो जिसमें कैमरा लगा हुआ था और उससे आतंकी विडियो बना रहे थे.

जैसे ही कैमरे लगे ड्रोन से आतंकियों को इराकी सेना की एक आउटपोस्ट नजर आई उन्होंने दूसरे ड्रोन से ऊपर से बम गिरा दिया. इस बम के धमाके से इराकी सेना में भगदड़ मच गई.

इस हमले में जहां एक इराकी सैनिक मारा गया वहीं कई घायल भी हो गए. यह इस तरह की अकेली घटना नहीं है. पिछले कुछ हफ्तों में आईएस की ओर से ऐसे कई ड्रोन हमले किए गए हैं.

आईएस का दावा है कि एक हफ्ते के अंदर ही उसने 39 इराकी सैनिक ड्रोन्स हमले में मारे गए और सैंकड़ों हताहत हुए हैं. अमेरिकी अधिकारियों ने भी इन हमलों की पुष्टि की है कि आईएस अब ड्रोन्स के इस्तेमाल से बम गिरा रहा है.

गौरतलब है कि इस खतरे के मद्देनजर अमेरिकी और इराकी कमांडर्स ने मोर्चे पर तैनात अपने सैनिकों के लिए चेतावनी जारी की है. अमेरिकी अधिकारियों का कहना है कि आईएस के इस ड्रोन के जरिए हमला करने से आम नागरिकों के लिए एक गंभीर जोखिम पैदा हो रहा है.

आशंका है कि भविष्य में आईएस इसका इस्तेमाल आम लोगों के खिलाफ भी कर सकता है. खबर है कि आईएस का सरगना बगदादी लंबे समय से ड्रोन्स के सहारे आतंकी हमलों को अंजाम देने की संभावनाओं को खंगाल रहा था.

अब ये हथियार बगदादी के हाथ आने के बाद वह रिमोट कंट्रोल की मदद से चलने वाले इन ड्रोन्स का इस्तेमाल विस्फोटक पदार्थों की डिलिवरी करने और नर्व एजेंट्स जैसे खतरनाक हथियारों की सप्लाइ करने में भी कर सकता है.

आईएस के ड्रोन्स खतरनाक तो हैं ही. 3 पाउंड मोर्टार शेल वाले एक छोटे बम की परिधि भी 30 से 45 फुट की हो सकती है. अगर ऐसा बम भीड़भाड़ वाले इलाके में गिरा दिया जाए, तो यह कई दर्जन लोगों को मारने और घायल करने के लिए काफी होगा.

यदि बगदादी अमेरिकी और इराकी सेना के हाथों घिरता है या उनके आईएस कमजोर पड़ता है तो वह ऐसा करने से भी नहीं हिचकेगा.

Don't Miss! random posts ..