ENG | HINDI

IPS अधिकारी के पास होती है ये खास ताकतें

आईपीएस ऑफिसर

आईपीएस ऑफिसर – आईपीएस यानि इंडियन पुलिस सर्विस, पद पर आने के लिए युवा बिना खाए पिये न  जाने कितनी मेहनत करते है कितनी मेहनत के बाद आईपीएस के पेपर को क्लियर कर ये पद पाते है।

इस पद को पाने में जितनी मेहनत लगती है उसे कही ज्यादा बङी इस पद से जुङी जिम्मेदारियां होती है । जिनकी पूर्ण जानकारी होना बहुत जरूरी है।क्योंकि तभी आप इस पद की गरिमा को बनाए रख पाएंगे । आईपीएस ऑफिसर की वर्दी के साथ जो मान सम्मान और इज्जत मिलती  है। उस मान सम्मान और इज्जत का मोल चुकाना उतना ही मुश्किल भी होता है। जिस वजह से अक्सर अपनी इस पद की गरिमा न बनाए रखने के कारण कई ऑफिसर्स इस पद खो को  देते है । आईपीएस ऑफिसर शहर की सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के साथ साथ बहुत से काम भी करते है जिनसे आप अनजान है ।

और आज हम आपको आईपीएस ऑफिसर की उन्ही जिम्मेदारियां के बारे में आपको बताने वाले है ।

आईपीएस ऑफिर सीबीआई, इंटेलिजेंस ब्यूरो, भारतीय सुरक्षा गार्ड, सीआरपीएफ, बीएसएफ और इंडो तिब्बत सेना के साथ मिलकर काम करता है और इन्हें निर्देश भी देता है । कइ बार हालत बिगङने पर इन विभागों का आईपीएस ऑफिसर के साथ मिलकर सही योजना बनाना बहुत जरुरी होता है। क्योंकि एक आईपीएस ऑफिसर लोगों की सुरक्षा के साथ -साथ,  सरकारी संपत्ति की जिम्मेदारी भी होती है ।

आईपीएस ऑफिसर का काम अपने शहर की सुरक्षा और शांति बनाए रखना और शहर में किसी भी तरह के संप्रादायिक  दंगों  को फैलने से रोकना होता है। कई बार परिस्थितियां हाथ से निकल जाती है इस स्थिति आईपीएस ऑफिसर की अहम जिम्मेदारी शहर के सभी पुलिस विभागों को सही दिशा निर्देश देना और घटना को नियंत्रण में लाना होता है । शहर में शांति बनाए रखने के लिए ये लाॅ एन आर्डर भी पास करते हैं ।

आईपीएस ऑफिसर

आईपीएस ऑफिसर के ऊपर शहर की सुरक्षा के साथ- साथ  मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री के संरक्षण जिम्मेदारी भी होती है । राज्य में आयोजित किसी समारोह या रैली जिसमें पीएम या मुख्यमंत्री की मौजूदगी होती है । उस समारोह और रैली की पूरी जिम्मेदारी आईपीएस ऑफिसर पर ही होती है ।

राज्य में कोई आपदा आने पर इस पद का अधिकारियों का पूरी तरह सक्रिय रहना बहुत जरुरी होता है । साथ ही लोगों को सुरक्षा मुहैया कराना भी ।

आईपीएस ऑफिसर

IPS ऑफिसर सरकार या कोर्ट दारा जारी किए गए नियम और कानून को भी शहर में लागू करता है । साथ ही ये भी ध्यान रखना कि शहर में कोई उस कानून का उल्लंघन तो नहीं कर रहा । उदाहरण के लिए कोर्ट ने पटाखों पर बैन लगाने का आदेश दिया जिसे आईपीएस ऑफिसर की निगरानी में लागू किया जाएगा।

हालांकि हमारे देश में पुलिस अधिकारियों को लेकर लोगों में एक अलग तरह की ईमेज  है लेकिन हम इस बात से इंकार नही कर सकते थे  कि देश में शांति और सुरक्षा बिना पुलिस के असंभव है जिस वजह से हमें उनके पद की रिस्पेक्ट करनी चाहिए ।

Don't Miss! random posts ..