ENG | HINDI

भारत की सीमा भवानी के जवाब में चीन ने दिखाई बला की खतरनाक चीनी महिला कमांडो

सीमा भवानी

सीमा भवानी – सभी देश अपने देश की शक्ति, सम्पूर्णन्नता और कौशल का प्रदर्शन करने के लिए नित नए तरीके ढूंढते हैं।

यूं तो हर देश की अलग खूबी होती है और अलग-अलग मायनों में वो इसे प्रदर्शित भी करते हैं। किसी भी  देश की इन्ही अलग खूबियों और खामियों से मिलकर ही, एक सम्पूर्ण राष्ट्र का निर्माण होता है।

वैसे तो हर किसी को अपने देश से बेहतर और कोई देश नहीं लगता, जिसमे कुछ गलत भी नहीं है। अपने देश के लिए प्रेम और समर्पण का भाव रखना किसी भी नागरिक का परम कर्तव्य है। हर देश कुछ खास दिनों पर अपनी संस्कृति और ताकत का प्रदर्शन करते हैं ताकि दुनिया उस देश की ताकत का और वहां के विशाल और बेहतरीन कौशल का अंदाज़ा लगा सकें।

सीमा भवानी

हाल ही में हमारे देश ने 26 जनवरी को अपना गणतंत्र दिवस सेलिब्रेट किया था और इस मौके पर सभी देशों, प्रमुख विभागों की झांकियों के साथ ही देश की शक्ति का भी प्रदर्शन किया गया।

इस बार के सेलिब्रेशन में जो सबसे खास बात थी वो ये थी कि 10 देशों के राष्ट्राध्यक्षों के सामने भारत की महिला बाइकर दस्ते सीमा भवानी के बाइक कौशल की भी नुमाइश हुई। इस बारे में सबसे खास बात ये थी कि ये पहली बार था जब 26 जनवरी के उत्सव में महिला बाइक दस्ता सीमा भवानी भी शामिल था। इस दस्ते सीमा भवानी को सभी ओर से ढ़ेर सारी सराहना और प्रशंसा मिली।

और अब चीन ने भी सोशल मीडिया पर चीन की महिला कमांडोज का एक वीडियो पोस्ट किया है जो काफी वायरल हो रहा है।

सीमा भवानी

इस वीडियो में SWAT (स्पेशल विपंस एण्ड टैक्टिस) की महिला कमांडोज स्पेशल ट्रेनिंग लेते दिख रही हैं। इस वीडियो में महिला कमांडोज़ के करतबों को देखकर आप भी दांतों तले उंगली दबा लेंगे। दरअसल, इस वीडियो में महिला कमांडो आग से खुद को बचा रही हैं। वीडियो में आग के गोलों के ऊपर से हाई जंप करते हुए महिला कमांडो खुद को बचा रही हैं। इससे साफ है कि SWAT की महिला कमांडोज़ को भी पुरूष कमांडोज़ की तरह ही ट्रेनिंग दी जाती है और उन्हे हर क्षेत्र में कुशल और योग्य बनाया जाता है ताकि वो पलक झपकते ही दुश्मन को धूल चटा सकें।

SWAT की महिला कमांडो को बिल्डिंग में चढ़ने की, निशानेबाजी करने की, अपने दुश्मन को बलपूर्वक पटखनी के बारे में सिखाया जाता है। अगर आप इस वीडियो पर गौर फरमाएंगे तो पाएंगे कि किस तरह इसमें महिला कमांडोज़ को कड़ी ट्रेनिंग लेते हुए दिखाया जा रहा है, इस ट्रेनिंग में साफ झलक रहा है कि ये कमांडोज़ किसी भी प्रकार से पुरूष कमांडोज़ या किसी और देश की कमांडोज से पीछे नहीं है।

सीमा भवानी – साथ ही एक बात औऱ साफ है कि चीन किसी भी तरह से, भारत से पीछे नहीं रहना चाहता है। खैर जहा तक बात रही साहस और कौशल की तो वो भारत और चीन दोनों जगह की महिलाओं की ही काबिले तारीफ है। महिलाओं को कोमल समझा जाता है लेकिन उनके इस तरह बहादुरी से जंग लड़ते हुए देखकर छाती गर्व से चौड़ी हो जाती है।

Article Categories:
विशेष

Don't Miss! random posts ..