ENG | HINDI

राजा-महाराजा भी रखते थे माल्‍या जैसे शौक, जानकर हैरान रह जाएंगें

भारतीय इतिहास में अनेक राजाओं और रानियों का वर्णन किया गया है। इनमें से कुछ शासकों ने महान युद्ध लड़े और हर तरह से अपने राज्‍य की रक्षा की थी। साथ ही देश में कई खूबसूरत महल और किले भी बनवाए थे।

कुछ शासकों की जिंदगी के राज़ पर्दे के पीछे ही छिपे रहे जिन पर से आज हम पर्दा उठाने वाले हैं। आज हम आपको भारत के राजाओं की निजी जिंदगी के कुछ हैरान कर देने वाले राज़ बताने जा रहे हैं।

– भरतपुर के राजा किशन सिंह ने एक या दो शादी नहीं की थी बल्कि उनकी 40 रानियां थीं। उन्‍हें तैराकी का बहुत शौक था। उन्‍होंने अपने लिए एक झील बनवाई थी जिसके किनारे उनकी पत्‍नियां निर्वस्‍त्र होकर खड़ी रहती थीं।

– पटियाला के महाराजा भूपिंदर के 88 बच्‍चे थे और उनके हरम में अनेक महिलाएं थीं। कहा जाता है कि साल में एक बार वो निर्वस्‍त्र होकर परेड करते थे ताकि सभी को पता चल सके कि वो सुरक्षित और स्‍वस्‍थ हैं।

– शाहजहां ने मुमताज के अलावा अपनी किसी और पत्‍नी से औलाद नहीं की थी लेकिन मुमताज की मौत के बाद शाहजहां ने तकरीबन 8 शादियां की थीं।

– महाराणा कुंभा को एक आध्‍यात्मिक नेता ने बलि देने की सलाह दी थी। बलि के बाद जहां मानव सिर गिरता वहां पर दीवार बनाने और जहां पर शरीर गिरता उसके आसपास किले का निर्माण करवाने की सलाह दी थी। कहा जाता है कि किले की दीवार बनाने के लिए हज़ारों संख्‍या में लोगों की बलि दी गई थी।

– जूनागढ़ के नवाब के पास 800 कुत्ते थे और हर कुत्ते के लिए एक कर्मचारी नियुक्‍त था। अपने दो पसंदीदा कुत्‍तों की शादी में उन्‍होंने लाखों रुपए खर्च किए थे।

– राजकुमार मानवेंद्र सिंह गोहिल शाही परिवार के इकलौते ऐसे शख्‍स थे जिन्‍होंने सार्वजनिक तौर पर अपने गे होने की बात स्‍वीकार की थी। बाद में उन्‍हें उनके परिवार ने त्‍याग दिया था।

इनके अलावा भी कई राजाओं और मुगल शासकों के अजीबोगरीब शौकों की चर्चा होती रहती है। कोई भी राजा इतिहास में ऐसा नहीं था जिसका कोई शौक या रहस्‍य ना हो।

Don't Miss! random posts ..