ENG | HINDI

भारत vs चीन : आखिर कौन बनेगा एक महाशक्ति?

Narender-Modi-and-Xi-Jinping

अगर महाशक्ति की बात की जाए तो शायद आपके दिमाग में अमरीका का नाम आए लेकिन चलिए सच का सामना करते हैं.

आज के समय में दुनिया में 2 देश, महाशक्ति का दर्जा हासिल करने की रेस में सबसे आगे हैं, और वे 2 देश हैं एशिया के ‘चीन’ और ‘भारत’.

दोनों देश बड़े हैं और दोनों देशों की आबादी बहुत बड़ी है. दोनों देशों में कमाल की प्रतिभा देखने को मिलती है और दोनों देशों के लोग भी मेहनती हैं. लेकिन कहीं न कहीं एक भारतीय होने के नाते मुझे लगता है कि कुछ भी हो जाए, भारत को एक महाशक्ति बनने से कोई रोक नहीं सकता.

और तो और, भारत के पूर्व राष्ट्रपति, आदरणीय ए.पी.जे.अब्दुल कलाम जी ने भी एक भविष्यवाणी की थी जिसमें उन्होंने कहा था कि सन 2020 तक भारत एक महाशक्ति बन जाएगा.

आइये चलिए देखते हैं कि इस बात में कितनी सच्चाई है. हमने भारत और चीन के बीच कुछ आर्थिक और अन्य तुलनाएं की हैं जिनसे हमें कम से कम एक अंदाजा तो मिल ही जाएगा.

1) आर्थिक स्थिति
1. 2013 के हिसाब से भारत का GDP है $4.99 trillion
2013 के हिसाब से चीन का GDP है $13.39 trillion

2. भारत की 29% आबादी गरीबी रेखा से नीचे रहती है
चीन की 6% आबादी गरीबी रेखा के नीचे रहती है

3. भारत की आबादी के करीब 8% लोग बेरोज़गार हैं
चीन की आबादी के करीब 4 प्रतिशत लोग बेरोज़गार हैं

2) सैन्य बल
1. चीन के पास दुनिया की सबसे बड़ी सेना है
भारत के पास दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी सेना है

2. भारत के पास 100 परमाणु हथियार हैं
चीन के पास 250 परमाणु हथियार हैं

3. भारत अपने GDP का 2.5% हिस्सा सेना के लिए खर्च करता है
चीन 2% हिस्सा सेना के लिए खर्च करता है

3) जनसँख्या
1. भारत की जनसँख्या है 1,236,344,631
चीन की जनसख्या है 1,355,692,576

2. भारत में करीब 20,00,000 लोग HIV AIDS के शिकार हैं
चीन में करीब 7,80,000 HIV AIDS के शिकार हैं

3. भारत का साक्षरता दर है कुल जनसख्या का 65%
चीन का है 95%

इन सभी बातों से तो यही मालुम पड़ता है कि फिलहाल चीन ज़्यादा मज़बूत है.
लेकिन हम भारतीय हैं और हमें किसी भी बात की चिंता नहीं करनी चाहिए, ऐसी भविष्यवाणी लगाईं जा रही है कि आनेवाले 50 सालों में भारत दुनिया का सबसे शक्तिशाली देश होगा.

मुझे ये बात एक तरह से सही भी लगती है क्योंकि जिस तरह से हमारे देश के लोगों ने आज़ादी मिलने के बाद और भारत-पकिस्तान विभाजन होने के बाद जो त्रासदियाँ सही हैं, उसके बावजूद आज हम इतनी दूर तक पहुँच चुके हैं. मुझे लगता है कि अभी सफलता की कई सीढियां चढ़नी बाकी हैं और हम ये करके दिखाएंगे

जय हिंद!

Article Tags:
· · ·
Article Categories:
विशेष

Don't Miss! random posts ..