ENG | HINDI

हिन्दू मान्यता के अनुसार ये 7 चिरंजीवी लोग अमर है , क्या आपने देखा है इन को

parshuram-character

अमर होना कौन नहीं चाहता ?

कौन नहीं चाहता कि वो हमेशा जिंदा रहे जवान रहे और हर युग में हर काल में उपस्थित रहे.

आदि काल से ही देवता या मनुष्य या असुर सब इसी इच्छा की पूर्ति के लिए तप करते थे कि उन्हें अमरत्व का वरदान मिल जाए. लेकिन ऐसा वरदान किसी को नहीं मिला. क्योंकि प्रकृति का नियम है जो आया है वो जायेगा ही.

लेकिन ज़रा सोचिये क्या ऐसा हो सकता है कि नियम बदल जाए, कुदरत का कानून टूट जाए और कोई हमेशा के लिए अजर अमर हो जाये.

अब अगर हम कहे कि ऐसे अजर अमर कोई एक नहीं सात लोग है वो भी कोई देव या असुर नहीं… बल्कि इंसान

सात ऐसे लोग जो अपने जन्म के बाद से लेकर आज तक हर युग में हर काल में मौजूद रहे है.

सात ऐसे महान इतिहास पुरुष जिनमें से कुछ ने मृत्यु पर विजय हासिल की तो कुछ को श्राप मिला पृथ्वी के अंत तक मुक्त ना होने का.

आइये आज आप को मिलते है उन अजर अमर लोगों से…

अश्वत्थामा 

Ashwatthama

द्रोणाचार्य के पुत्र अश्वत्थामा को अमरत्व प्राप्त है. लेकिन ये अमरत्व कोई वरदान नहीं अपितु अश्वत्थामा का प्रारब्ध है. अश्वत्थामा महाभारत में कुरुक्षेत्र युद्ध लड़ने वाले योद्धाओं में से एकमात्र जीवित योद्धा है. द्रौपदी के 5 निर्दोष पुत्रों की हत्या करने पर श्री कृष्ण ने अश्वत्थामा को पाप मुक्ति के लिए ये प्रारब्ध दिया कि उसे सृष्टि के अंत तक ऐसे ही चिरंजीवी बन  भटकना पड़ेगा और ना कोई उससे बात कर सकेगा ना कोई उसे चाहेगा. उसे अपने पापों और घावों के साथ ऐसे ही तडपना होगा.
समय समय पर ऐसी ख़बरें आती है कि अश्वत्थामा को देखा गया. अब इसमें कितनी सच्चाई है ये तो देखने वाले ही जाने.

1 2 3 4 5 6 7

Don't Miss! random posts ..